चक्रवाती तूफान ‘वायु’ में फंसे चीन के मछुआरों ने मांगी मदद

Daily Hunt News 6/11/2019 10:51:03 PM

मुंबई। ओडिशा में पिछले महीने 'फानी' तूफान से मची तबाही के बाद अब देश के पश्चिमी किनारे पर स्थित महाराष्ट्र औऱ गुजरात पर भी भयानक तूफान ' वायु' का खतरा मंडरा रहा है। अरब सागर में चक्रवाती तूफान ‘वायु’ महाराष्ट्र और गुजरात की ओर बढ़ रहा है। तूफान पूर्वी मध्य अरब सागर में 115 किमी. की गति से महाराष्ट्र तट पहुंचा है। हालांकि महाराष्ट्र के तट तक पहुंचने के बाद इसकी गति 50 से 60 किमी. प्रति घंटा रह गई । इस बीच, तटरक्षक दल ने बताया कि समुद्र में तूफान में फंसे चीन के मछुआरों के कुछ जहाजों में तकनीकी खराबी आ गयी है जिसके कारण जहाजों को रत्नागिरी तट पर लाया गया है। जहाजों के इंजन की मरम्मत की जा रही है। चीन के मछुआरों ने भारतीय तटरक्षक दल व नौसेना से मदद मांगी थी जिसके बाद उन्हें मदद दी गयी है |  

भारतीय तटरक्षक के जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने मुंबई में बताया कि चक्रवाती तुफान 'वायु' में फंसने के बाद चीन के मछुआरों के जहाज समुद्र में फंस गए । कई जहाजों में तकनीकी खराबी भी आ गई थी। मछुआरों ने जीवन की रक्षा की गुहार लगाई जिसके बाद मानवीयता के आधार पर भारतीय तटरक्षक दल ने सुरक्षा घेरे में सभी को कोंकण तट पर ले आए हैं ।  

मौसम विभाग की ओर से बताया गया है कि  चक्रवाती तुफान ‘वायु’ बुधवार, 13 जून को गुजरात के तटीय इलाकों पोरबंदर और कच्छ क्षेत्र में पहुंच जाएगा। मौसम विभाग ने अगले 12 घंटों में चक्रवाती तूफान के विकराल होने की संभावना जताई है। अरब सागर के उत्तर की ओर बढ़ता ‘वायु’ 13 जून को सुबह गुजरात के तटीय इलाकों में पोरबंदर से महुवा, वेरावल और दीव क्षेत्र को प्रभावित करेगा। इसकी गति 110 से 130 किमी प्रति घंटा तक हो सकती है। इसके अलावा, उत्तरी महाराष्ट्र के तटों पर 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। महाराष्ट्र और गुजरात सरकार ने हाई अलर्ट जारी करते हुए राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन दल (एनडीआरएफ) के जवानों को तैनात किया है।    

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

 

Recommended

Spotlight

Follow Us