एनसीएमसी ने कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता में चक्रवात वायु से संबंधित तैयारियों की समीक्षा की

Daily Hunt News 11-06-2019 20:22:38

नई दिल्ली। राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति(एनसीएमसी) ने मंगलवार को कैबिनेट सचिव प्रदीप कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में बैठक की और चक्रवात 'वायु' से संबंधित तैयारियों की समीक्षा की। गुजरात के सचिव और दमन एवं दीव के प्रशासक के सलाहकार ने एनसीएमसी को चक्रवाती तूफान से निपटने के लिए तैयार किए गए उपायों से अवगत कराया। गुजरात के मुख्य सचिव ने बताया कि तट से लगे संवेदनशील क्षेत्रों के लगभग 2.8 लाख लोगों को कल(बुधवार) से निकाला जाएगा। मीडिया और एसएमएस में घोषणाओं के माध्यम से आसन्न चक्रवात को लेकर लोगों को चेतावनी देने की व्यवस्था की गई है।

जयशंकर ने कैलाश मानसरोवर यात्रियों के पहले दल को झंडी दिखाकर किया रवाना
यह भी पढ़ें

राज्य और केंद्रीय एजेंसियों की तैयारियों की समीक्षा करते हुए कैबिनेट सचिव ने निर्देश दिया कि प्रभावित क्षेत्रों के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जाए और आवश्यक भोजन, पीने के पानी और दवाओं का स्टॉक किया जाए। बुनियादी ढांचे के कारण होने वाले किसी भी नुकसान को बहाल करने के लिए तैयार किसी भी मानवीय हताहत और नुकसान से बचने के लिए सभी संभव उपाय किए जाने हैं।

एनडीआरएफ ने गुजरात में 35 टीमों और दीव में चार टीमों को स्थानीय प्रशासन के साथ समन्वय में लगाय है। एसडीआरएफ, सेना, तटरक्षक और बीएसएफ की बचाव टीमें भी तत्परता से काम कर रही हैं। गृह मंत्रालय राज्य सरकारों और संबंधित केंद्रीय एजेंसियों के साथ निरंतर संपर्क में है।

मुख्य सचिव के अलावा गुजरात, दमन एवं दीव और दादानगर हवेली के अधिकारियों ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से एनसीएमसी की बैठक में भाग लिया। गृह मंत्रालय, जहाजरानी, ​​रेलवे, बिजली, दूरसंचार, रक्षा, मत्स्य, आईएमडी, एनडीएमए और एनडीआरएफ के मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारी भी बैठक में शामिल हुए। एनसीएमसी स्थिति का जायजा लेने के लिए और भी बैठकें करेगा।

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

 

Recommended

Spotlight

Follow Us