...तो इस वजह से जहरीले सांप पर भारी पड़ता है नेवला!

Daily Hunt News 3/13/2019 1:51:31 PM

नई दिल्ली। आज हम सांप और नेवले को लेकर बात करे तो आपको ये बता दें कि आपने अनेक बार सुना होगा कि इन दोनों की कभी भी नहीं बन पाती है। जैसे ही दोनों एक-दूसरे के समक्ष आते है तो वो एक-दूसरे के खून के प्यासे हो जाते है और दोनों ही खून से लथपथ हो जाते है। 

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.40 लाख में Call On: 09314166166

HG

जानकारी के मुताबिक, हिन्दुस्तान में पाया जाने वाले भूरे नेवले पर सर्प के जहर का प्रभाव कम होता है। किन्तु ऐसा भी माना जाता है कि कि इस खूनी लड़ाई के पश्चात अधिकतर नेवले खुद ही मर जाते हैं क्योंकि सर्प के जहर का असर उन पर थोड़े वक्त के पश्चात होता है। किन्तु ये प्रत्येक मामले में नहीं होता क्योंकि नेवला सर्प को बड़ी सावधानी से पकड़ता है। 

कक्षा में अध्यापक ने सभी छात्रों को पिलाई सिगरेट, जानिए कारण
यह भी पढ़ें

सर्प वैसे तो काफी फुर्तीला होता है, लेकिन नेवला बेहद ही ज्यादा चपलता तथा फुर्ती के साथ सर्प संग लड़ता है और पूरा प्रयास करता है कि सांप उसे डस नही पाए, उसका यही फुर्तीला पन उसे सर्प के जहर से रक्षा करता है।

HG

इस लड़ाई में सर्प ने यदि नेवले को डस भी लिया तो भी नेवले पर उसका कोई प्रभाव नही पड़ता है क्योंकि नेवले के पास खास एसिट्लोक्लिन रिफ्लेक्स होते हैं जो सांप के जहर हेतु प्रतिरक्षित होते है। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

नेवले का डीएनए अल्फा तथा बीटा ब्लॉकर्स प्रस्तुत करता है जो जहर के रेसेप्टर्स संग बधंने में प्रभावी नहीं होता है। इस कारण नेवले का जीवन प्रायः बचा रहता है।

Recommended

Spotlight

Follow Us