यहां कई सालों से निकाली जाती है होली के दूल्हे की बारात

Daily Hunt News 3/13/2019 10:59:10 AM

हमीरपुर। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में रंगों के पर्व को लेकर होली के दूल्हे की बारात बैंड बाजे के साथ धूमधाम से निकाली जायेगी। सैकड़ों साल पुरानी परम्परा को देखने के लिये पूरा गांव उमड़ता है। घर-घर दूल्हे का टीका करने की रस्में निभाई जाएगी। 

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.40 लाख में Call On: 09314166166

jgj

बुन्देलखण्ड के हमीरपुर जिले के जरिया एक ऐसा गांव है, जो इस परम्परा के लिये पूरे क्षेत्र में विख्यात है, जहां होली के दूल्हे की बारात सैकड़ों साल से निकाली जाती है। गांव के ही किसी युवक को होली का दूल्हा बनाकर पूरे गांव में बारात बैंड बाजे के साथ निकाली जाती है। 

यहां पर केवल 3 महिलाएं ही पहनती है बुर्का, जानिए वजह!
यह भी पढ़ें

घोड़े पर सवार दूल्हे का घर-घर टीका कर उसकी आरती उतारी जायेगी। गांव के देव स्थानों पर होली का दूल्हा माथा टेकने पूरी बारात के साथ जाता है। इस साल भी हरतारिया बाबा, देवी मंदिर रामजानकी मंदिर सहित अन्य देव स्थानों पर बारात के साथ पहुंचकर दूल्हे राजा पूजा करेंगे। 

ढोल नगाड़ों की थाप पर थिरकते घोड़े बारात का आकर्षण का केन्द्र बनेंगे। इस बार बारात में एक दर्जन से अधिक घोड़े शामिल किये जायेंगे। बाजार मैदान से शुरू हुई दूल्हे की बारात में शामिल होरियार डांस करेंगे। 

jgj

गांव के पूर्व प्रधान रामस्वरूप, हरिमोहन तिवारी, मनीष, जय सिंह परिहार सहित अन्य लोगों ने बताया कि होली के दूल्हे की बारात निकालने की परम्परा सैकड़ों साल पुरानी है जिसमें गांव के ही हर साल किसी न किसी एक युवक को होली का दूल्हा बनाकर उसे घोड़े में बैठाया जाता है और पूरे गांव में घर-घर महिलाएं उसका टीका करती हैं। 

इस प्राचीन परम्परा में हिरणाकश्यप का वध व अन्य लीलाओं का मंचन भी होता है। जिसे देखने के लिए दूरदराज से लोग गांव आते है। कार्यक्रम की सुरक्षा के लिये गांव के ही युवकों की टोलियां मुस्तैद रहती है। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

पिछली बार गांव के श्यामू को दूल्हा बनाकर घोड़े पर बैठाकर पूरे गांव में बारात निकाली गई थी। बताया जाता है कि अबकी बार गांव में होली का दूल्हा बनाने के लिए जल्द ही किसी युवक का नाम फाइनल किया जाएगा। इसके लिए एक कमेटी का गठन भी किया जाएगा। 

Recommended

Spotlight

Follow Us