रमज़ान के महीने में मतदान की तारीखों को लेकर बहस पर भड़के जावेद अख्तर

Daily Hunt News 3/13/2019 8:12:02 AM

मुंबई । सिनेमा के गीतकार और लेखक जावेद अख्तर ने आगामी संसदीय चुनावों में रमज़ान के महीने में मतदान की तारीखों को लेकर हो रहे विवाद पर अपनी प्रतिक्रिया में इसे बेतुका बताया है। सोशल मीडिया पर इस विवाद को लेकर अपनी पोस्ट में जावेद अख्तर ने उन लोगों को आड़े हाथों लिया, जो तारीखें बदलने की मांग कर रहे हैं। जावेद अख्तर ने पोस्ट में लिखा कि ये बहस घिनौनी है। रमज़ान को किसी भी तरह से चुनावों से नहीं जोड़ा जा सकता। जयपुर में प्लॉट मात्र 2.40 लाख में Call On: 09314166166

एक अनोखा मंदिर, जहां की जाती है खंडित शिवलिंग की पूजा
यह भी पढ़ें

VBXCV

उन्होंने इसे तूल देने वालों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि ये धर्मनिरपेक्षता का विकृत संस्करण है। साथ ही जावेद अख्तर ने चुनाव आयोग से भी अपील करते हुए कहा कि चुनावों में तारीखों के बदलाव की मांग पर बिल्कुल ध्यान नहीं दिया जाना चाहिए। इस तरह की मांग को फौरन खारिज कर देना चाहिए। संसदीय चुनावों के लिए आगामी मई माह में रमज़ान शुरु होगा और साथ ही इसी महीने तीन चरणों के लिए मतदान होना है। 

VBXCV

कई मुस्लिम संगठनों का तर्क है कि रमज़ान में मुस्लिम समाज के लिए वोट डालने के लिए निकलना आसान नहीं होगा, इसलिए इन तारीखों में बदलाव हो। इस मांग को लेकर कई संगठनों ने चुनाव आयोग से संपर्क किया है। जावेद अख्तर इससे पहले पुलवामा हमले के बाद कंगना के निशाने पर आए थे। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

जावेद अख्तर और शबाना आजमी को पाकिस्तान के दौरे पर जाना था, लेकिन पुलवामा हमले के बाद उन्होंने पाकिस्तानी दौरा रद्द कर दिया था, लेकिन कंगना ने इन दोनों पर हमला करते हुए कहा था कि उनको पाकिस्तान जाने की जरुरत क्या है। शबाना आजमी ने कंगना के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त की थी, लेकिन जावेद अख्तर ने कुछ नहीं कहा था। 

Recommended

Spotlight

Follow Us