नाबालिग से घर में घुसकर छेड़छाड़ करने वाले आरोपी को 5 वर्ष का कारावास व अर्थदण्ड की सजा

Daily Hunt News 25-01-2021 17:02:06

अनूपपुर। नाबालिग लड़की के घर में घुसकर रात में छेड़छाड़ करने पर आत्मग्लानि से पीडि़त ने आत्महत्या कर ली थी, जिस पर विशेष न्यायालय (पॉक्सों)द्वारा आरोपित 24 वर्षीय ललन चौधरी पुत्र शोभा चौधरी निवासी ग्राम केल्हौरी, थाना चचाई को अलग-अलग प्रकरणों में 5 वर्ष का करावास एवं 12 हजार रुपये का अर्थदण्ड की सजा सुनाई है। पैरवी विशेष लोक अभियोजक रामनरेश गिरि ने की।

मीडिया प्रभारी राकेश कुमार पांडेय ने सोमवार को बताया कि घटना 25-26 अप्रैल 2019 के रात्रि की है। पीड़ित नाबालिग अपने घर में बाथरूम में निस्तार करने जा रही थी, तभी आरोपित ललन चौधरी ने अचानक उसका हाथ एवं कमर पकड़कर उसके साथ छेड़छाड़ की। पीड़ित ने शोर किया जिसपर घर के लोग आ गये और आरोपित दीवार कूदकर भाग गया। अगली सुबह थाना चचाई में रिपोर्ट दर्ज कराई गई।

मामले में पैरवी करते हुए विशेष लोक अभियोजक ने आरोपित को कठोर दण्ड से दण्डित करने की मांग करते हुए न्यायालय से कहा कि अभियुक्त ने नाबालिग पीडि़ता के विरूद्ध अति घृणित किया है, जिससे समाज में अपना सम्मान खो जाने के भय से पीडि़ता ने आत्महत्या जैसा कदम उठाया।

न्यायालय ने अभियुक्त को दण्डित करते हुए अपने निर्णय में कहा कि जिन परिस्थितियों में पीडि़ता के साथ उसके घर में पाया गया, वह एक बालक पर उसकी लज्जा भंग करने के आशय से हमला या आपराधिक बल के प्रयोग किये जाने का सामान्य मामला नही है। बल्कि आरोपित पीडि़ता के साथ बलात्संग के इरादे से पहुंचा था जिससे पीडि़ता ने आत्मग्लानिवश घटना के एक माह के भीतर ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी यदि आरोपित को दण्डित नहीं किया गया तो पीडिता के प्रति अन्याय होगा। आरोपित के प्रति सहानुभूति कतई उचित नहीं है।

यह खबर भी पढ़े: रिफायनरी क्षेत्र में निवेश के लिए देश विदेश के संभावित निवेशकों से चर्चा करेंगे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

यह खबर भी पढ़े: लव जिहाद कानून पर हाईकोर्ट में दायर सभी याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर करने की यूपी सरकार की मांग खारिज

Recommended

Spotlight

Follow Us