​लेह-लद्दाख में सैनिकों को भी लगेगी कोविड वैक्सीन ​

Daily Hunt News 16-01-2021 07:20:52

​​नई दिल्ली। ​शनिवार से पूरे देश में शुरू हो रहे कोविड वैक्सीनेशन के पहले चरण में चीन सीमा पर लेह-​लद्दाख में तैनात लगभग 4000 सेना के जवानों ​का भी टीकाकरण किया जायेगा​।​ अभी अग्रिम मोर्चों पर तैनात सैनिकों को कोविड वैक्सीन ​नहीं दी जाएगी लेकिन टीकाकरण के अगले अभियानों में चीन के साथ उत्तरी मोर्चे पर तैनात सभी सैनिकों को जल्द से जल्द टीका लगाए​ जाने की योजना है​​​।​​ 

रक्षा सूत्रों ​का कहना है कि​ अन्य स्थानों के मुकाबले लद्दाख सेक्टर में टीका​कारण अभियान पहले ​चरण में ही शुरू किया जा रहा है​​।​​​ टीकाकरण का पह​​ला ​चरण लेह​-लद्दाख में तैनात सैनिकों के लिए होगा​ लेकिन अभी वास्तविक नियंत्रण रेखा ​(एलएसी) ​के साथ ​अग्रिम चौकियों या आगे के स्थानों ​पर तैनात सैनिकों को अभी वैक्सीन नहीं​​ दी जाएगी।​ अग्रिम मोर्चे पर ​तैनात ​सैनिक वहीं रहेंगे​,​ जहां वे हैं। ​सैनिकों में वैक्सीनेशन की ​शुरुआत करने के लिए लेह में तैनात लगभग 4,000 सैनिकों को टीके दिए जाएंगे​​। ​टीकाकरण की ​प्राथमिकता ​में सेना की ​मेडिकल टीम को ​रखा गया है जिनकी ​सैनिकों के बीच ​रोटेशन​ल तैनाती की जाती है​​​​​। ​​​​

सूत्रों का कहना है कि लद्दाख की बर्फीली उच्च ऊंचाई वाली ​अग्रिम चौकियों पर तैनात सैनिक वैक्सीन लेने और वापस जाने के लिए नीचे नहीं उतरेंगे​ क्योंकि वे ऐसे क्षेत्र में हैं जहां कोरोना मुख्य चिंता का विषय नहीं है​​।​ 4,000 ​सैनिकों ​का यह आंकड़ा लद्दाख में ​सीमा पर ​तैनात हजारों ​सैनिकों की तुलना में बहुत कम है, ​जिन्हें चीनी सैनिकों ​से संघर्ष ​का सामना करना पड़ रहा है।​ अभी सिर्फ फ्रंटलाइन सिविल स्वास्थ्य कर्मचारियों ​का टीकाकरण किया जाना है लेकिन वैक्सीन का उत्पादन ​बढ़ने पर अंतिम ​चरण तक लद्दाख क्षेत्र ​के सभी ​लोगों ​को ​समय पर ​वैक्सीन देने की योजना है​।​​ 

यह खबर भी पढ़े: सरकार के जवाब से संतुष्ट HC, गुटखा बैन करने की याचिका को किया निष्पादित

Recommended

Spotlight

Follow Us