पाकिस्तानी अखबारों सेः कामकाज से नाराज इमरान खान ने अपने मंत्रियों की ली क्लास

Daily Hunt News 13-01-2021 19:42:29

नई दिल्ली। पाकिस्तान से बुधवार को प्रकाशित अधिकांश अखबारों ने प्रधानमंत्री इमरान खान के मंत्रिमंडल के कुछ सहयोगियों से नाराजगी की खबर दी है। अखबारों ने लिखा है कि मंत्रिमंडल की बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने मंत्रियों के कामकाज से नाराजगी का इजहार करते हुए कहा है कि हमारी हुकूमत को ढाई साल पूरे हो गए और अब महज ढाई साल का समय बाकी है। इसलिए हमने पाकिस्तान की आवाम के साथ जो वादा किया है, उसे पूरा करना है। उन्होंने मंत्रियों को निर्देश दिया है कि वह अपने काम में जुट जाएं ताकि अगले चुनाव में जाने से पहले हम सभी वादे पूरे कर सकें। बैठक में पाकिस्तान में हाई स्पीड डीजल को टैक्स से छूट देने का भी फैसला लिया गया है। बैठक में अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान में स्मगल करके लाए गए पेट्रोल की वजह से सालाना 180 अरब रुपये का नुकसान सरकार को उठाना पड़ता है। इसलिए पूरे पाकिस्तान में 192 पेट्रोल पंप को सील कर दिया गया है। 

अखबारों ने पाकिस्तान के दौरे पर आए अफगानिस्तान के टॉप शिया धर्मगुरू करीम खलीली की यात्रा की खबर दी है। करीम खलीली की प्रधानमंत्री इमरान खान, सेना प्रमुख जनरल कमर बाजवा और विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के साथ मुलाकात करने की खबर दी है। अखबारों ने इस सम्बंध में शाह महमूद कुरैशी का एक बयान भी छापा है जिसमें उन्होंने कहा है कि भारत अफगानिस्तान में चल रही शांति प्रक्रिया में रोड़े अटका रहा है। उनका कहना है कि पाकिस्तान अफगानिस्तान में चल रही शान्ति प्रक्रिया में पूरा सहयोग कर रहा है और एक शांत एवं खुशहाल अफगानिस्तान की वजह से पाकिस्तान को काफी फायदा है। इसलिए पाकिस्तान, अफगानिस्तान में हर सूरत में शांति बहाली चाहता है। यह सभी खबरें रोजनामा औसाफ, रोजनामा जिन्नाह, रोजनामा नवाएवक्त, रोजनामा जंग, रोजनामा खबरें, रोजनामा पाकिस्तान ने अपने पहले पृष्ठ पर प्रकाशित की हैं। रोजनामा औसाफ ने पाकिस्तान में भारतीय सेना के जरिए शहरी आबादी को निरंतर निशाना बनाने और भारी गोलाबारी करने पर नाराजगी का इजहार करते हुए पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायोग के वरिष्ठ राजनयिक को पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय में बुलाकर उन्हें अपनी चिंताओं से अवगत कराने की खबर दी है। मंत्रालय के प्रवक्ता के हवाले से दी गई खबर में कहा गया है कि भारतीय राजनयिक को सारी स्थितियों से अवगत कराया गया है और कहा गया है कि भारत सरकार लाइन ऑफ कंट्रोल पर संयम से काम ले और पाकिस्तानी शहरी आबादी को निशाना बनाने से बाज आए। 

अखबार ने यह भी खबर दी है कि भारत में चल रहे किसान आंदोलन के दौरान सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई के दौरान तीनों कानून को पर रोक लगाए जाने से किसानों को बड़ी राहत मिली है। अखबार में लिखा है कि सुप्रीम कोर्ट के जरिए तीन किसान कानूनों पर रोक लगाने से मोदी सरकार को तगड़ा झटका लगा है। रोजनामा खबरें ने भारत से सम्बंधित एक खबर काफी अहमियत से प्रकाशित की है। इस खबर में कहा गया है कि हिंदुत्ववादी संगठन हिन्दू महासभा नाथूराम गोडसे के नाम पर स्टडी सेंटर स्थापित कर रही है। अखबार का कहना है कि भारत में इस वक्त हिंदुत्ववादी संगठनों का बोलबाला है। भारत में हिंदुत्ववादी संगठन हिंदुओं की संस्कृति और सभ्यता, दर्शन के प्रचार-प्रसार में ज़ोर-शोर से लगे हुए हैं और उन्हें सरकार ने पूरी छूट रखी है। रोजनामा पाकिस्तान ने अरब सागर में पाकिस्तान थल सेना के जरिए पानी के अंदर अपने निशाने पर अटैक करने वाली मिसाइल का सफल परीक्षण किया है। अखबार का कहना है कि यह परीक्षण अपने निशाने को टारगेट करने में पूरी तरह से कामयाब रहा है। इस मौके पर पाकिस्तान थल सेना के अध्यक्ष एडमिरल जनरल इम्तेयाज नियाजी भी मौजूद थे। उन्होंने बताया है कि पाकिस्तान की यह मिसाइल टारगेट सिस्टम बहुत ही सफल और कामयाब रहा है। इस टारगेट सिस्टम के जरिए दुश्मन के ठिकानों को बहुत ही सटीक अंदाज़ से निशाना बनाया जा सकता है।

यह खबर भी पढ़े: किशोरी को बहला-फुसलाकर अपहरण कर दुष्कर्म, आरोपित गिरफ्तार

Recommended

Spotlight

Follow Us