कोवैक्सीन को लेकर मनीष तिवारी ने उठाए सवाल, कहा- नागरिकों पर ना हो ट्रायल

Daily Hunt News 13-01-2021 17:22:00

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से बचाव की स्वदेशी वैक्सीन 'कोवैक्सीन' के आपात इस्तेमाल को मिली मंजूरी पर कांग्रेस ने एक बार फिर सवाल खड़ा किया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने कहा है कि जिस वैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल तक पूरा नहीं हुआ है उस पर कैसे विश्वास किया जाए। उन्होंने प्रश्न किया कि कहीं सरकार ने इस वैक्सीन को फेज-3 ट्रायल के तहत ही तो रिलीज नहीं किया है?

मनीष तिवारी ने बुधवार को भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन ‘कोवैक्सीन' की रिलीज पर सवाल खड़ा किया है। उन्होंने कहा कि ‘कोवैक्सीन’ को सरकार की ओर से इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए लाइसेंस दिया गया, लेकिन अब सरकार कह रही है कि वैक्सीन लेने वालों को इस बात की अनुमति नहीं है कि वो कोवैक्सीन और कोविशील्ड में से विकल्प का चुनाव करें कि कौन सी वैक्सीन का डोज लेना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि अगर सरकार सिर्फ लोगों को दवा मुहैया कराना चाहती है तो उन पर किसी एक को ही लेने का दबाव क्यों बना रही है।

कांग्रेस सासंद ने कहा कि 'कोवैक्सीन’ के तीसरे चरण का ट्रायल पूरा नहीं होने से इसकी क्षमता पर संदेह बना हुआ है। ऐसे में सरकार को ट्रायल पूरा होने के बाद कोवैक्सीन को रिलीज करना चाहिए था। उन्होंने कहा कि तीसरे चरण के ट्रायल के तौर पर वैक्सीन को रिलीज नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि भारतीय 'गिनी पिग' नहीं हैं।

यह खबर भी पढ़े: COVID-19 टीके को लेकर सीएम केजरीवाल ने दिया बड़ा बयान, कहा- अगर केंद्र सरकार मुफ्त में वैक्सीन उपलब्ध नहीं कराती है तो...

यह खबर भी पढ़े: शादी के सवाल पर शहनाज गिल ने तोड़ी चुप्पी, बोलीं- स्ट्रगलर होती तो मेरे बच्चे भी हो गए होते

Recommended

Spotlight

Follow Us