गुजरात में कोरोना बेकाबू, राज्य कई जिलों से 70 डॉक्टरों को अहमदाबाद बुलाया

Daily Hunt News 29-11-2020 18:29:35

अहमदाबाद। गुजरात के कई जिलों में कोरोना की स्थिति खतरनाक स्तर तक पहुंच गई है। इसमें अहमदाबाद में कोरोना के मामलों में तेजी से वृद्धि हो रही है। सरकार ने शहर में कोरोना की गंभीर स्थिति को देखते हुए अन्य जिलों से 70 डाॅक्टरों को अहमदाबाद बुलाया है। इसके अलावा अतिरिक्त वेंटिलेटर और ऑक्सीजन सिलेंडराें की भी व्यवस्था की जा रही है।

राज्य के अन्य जिलोंं की अपेक्षा अहमदाबाद महानगरपालिका क्षेत्र में दिन-प्रतिदिन बढ़ती कोरोना मामलों की संख्या को देखकर नगर निगम और प्रशासन की चिन्ताएं बढ़ती जा रही है। पिछले 24 घंटे में अहमदाबाद में 332 मामले दर्ज किए गए जबकि 10 लोगों की कोरोना से मौत हो गई है। राज्य सरकार ने अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में स्थिति बेकाबू होते देख कर सूरत, जामनगर, वडोदरा और भावनगर से डॉक्टरों को यहां बुलाया है। मरीजोंं की संख्या बढ़ती देखकर वेंटिलेटर और ऑक्सीजन टैंक के भी ऑर्डर दिय गये हैं। बताया गया है कि कल 39 डॉक्टर सिविल अस्पताल पहुंच जायेंगे, जबकि अन्य 31 डॉक्टर का भी बुलाया गया। इस प्रकार अब तक अहमदाबाद के सिविल अस्पताल के लिए लगभग 70 वरिष्ठ डॉक्टरों को बुलाया गया है।

इस बीच सूरत भेजे गए 50 वेंटिलेटर भी सिविल अस्पताल वापस आ गए हैं। इसके अलावा कैंसर अस्पताल में दो ऑक्सीजन टैंक जोड़े गए हैं। आने वाले दिनों में 1,200 बेड के अस्पताल में एक नया 20,000 लीटर ऑक्सीजन टैंक और स्थापित किए जाने की उम्मीद है। सिविल अस्पतालों में गंभीर रूप से बीमार रोगियों की संख्या में डेढ़ गुना वृद्धि होने से ऑक्सीजन की भी मांग बढ़ गई है। वर्तमान में सिविल अस्पताल में 1,256 कोरोना रोगियों का इलाज चल रहा है।

इसके अलावा सूरत से 30 वेंटिलेटर, 2 ऑक्सीजन टैंक भी अहमदाबाद भेज दिए गए हैं।अहमदाबाद में कोरोना केस बढ़ने पर सरकार सतर्क है। सरकार के निर्देश पर ही शहर के चार होटलों में 120 आइसोलेशन बेड और निजी अस्पतालों में 32 बेडों की व्यवस्था की गई है।

यह खबर भी पढ़े: जम्मू: एक बार फिर दिखा पाकिस्तानी ड्रोन, BSF ने चलाया तलाशी अभियान

Recommended

Spotlight

Follow Us