रात को पैर के तलवे पर बांधकर सो जाएं ये पत्ता, सुबह गायब हो जाएगी शुगर जैसी गंभीर बीमारी

Daily Hunt News 26-11-2020 05:15:00

डेस्क। वर्तमान में भागदौड़ भरी जिंदगी में हर व्‍यक्ति किसी न किसी बिमारी से जरूर परेशान रहता है। इन बीमारियों से बचने के लिए हर तरह की दवाइयों का सेवन करते हैं। इन बीमारियों में कुछ ऐसी बीमारियाँ होती हैं। जिनका इलाज करने पर वो ठीक हो जाती हैं लेकिन कुछ ऐसी बीमारियाँ होती हैं जिनका इलाज करने के बावजूद उन्हें जड़ से खत्म नहीं किया जा सकता हैं। वहीं अगर बात करें शुगर जैसी बिमारी की तो इस समय इस बिमारी लगभग आधे से ज्‍यादा लोग ग्रसित हैं। लेकिन आज हम आपको आज हम आपको एक ऐसे घरेलू नुस्खे के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका इस्तेमाल करके आप शुगर की बीमारी से छुटकारा पा सकते हैं। इतना ही नहीं इसका कोई साइड इफेक्‍ट भी नहीं होगा। जी हां आपको बता दें कि शुगर के बीमारी के ये घरेलू इलाज सबसे बेहतरीन है इसके लिए आपको आंक के पत्‍ते की आवश्‍यकता पड़ेगी।

lifestyle

विषैला होने के बावजूद भी इस पौधे में कई औषधिय गुण पाएं जाते हैं। इसके फूल-पत्तियों का इस्तेमाल अस्थमा, डायबिटीज, कुष्ठ रोग और बवासीर जैसी बीमारियों को दूर करने में मदद करता है। मदार, अर्क या अकोवा के नाम से पहचाने जाने वाले इस पौधे से और भी स्किन में एलर्जी या खुजली जैसी समस्याओं को दूर किया जा सकता है। अब आइए जानते हैं कि कैसे करें इसका प्रयोग... 

Advantages of tying aakal leaf on the soles of the feet

-इसका  इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले आप एक आक के पत्ता ले लीजिये और अब इसके ऊपर के हल्की लकड़ी को काट लें फिर अब आप आक के चिकने वाले हिस्से को अपने तलवो पर बांध ले। 

ध्यान रहे आक का पत्ता आपके तलवो पर टीका रहना चाहिए इसलिए इसे अच्छे से बांध लीजिये।

अब आप आक के पत्ते को रात भर बांध इसी प्रकार से अपने तलवे से बंधे रहने दें जैसा कि आप तस्‍वीरों में भी देख सकते होंगे और फिर सुबह इस पत्‍ते को खोल दीजिये।

इस प्रक्रिया को लगातार 20 दिनों तक करे। ऐसा करने से आपकी शुगर की समस्या जल्द ही खत्म हो जाएगी।

lifestyle

इसके अलावा ये भी बता दें कि जिन व्यक्तियों को हाइ ब्लड शुगर हो उन्हें, ये सब खाद्य पदार्थ और अन्य कोई भी खाद्य पदार्थ, जिनमें फाइबर अधिक और फैट कम हो, लेने चाहिये। हर उस व्यक्ति, जिसे हाइ ब्लड शुगर हो, के लिये खड़ा अनाज उचित नहीं हो सकता है इसलिये उन्हें अपने भोजन को बड़ा हिस्सा बनाने से पहले डाक्टर से सलाह कर लेना चाहिये।

यह खबर भी पढ़े: रेसिपी: अब की बार सर्दियों में बनाएं गाजर की खीर, हलवे का स्‍वाद भी पड़ जायेगा फीका

Recommended

Spotlight

Follow Us