मां भारती की सेवा और गरीब-किसानों के कल्याण के लिए सत्ता में आती है भाजपा: जेपी नड्डा

Daily Hunt News 21-11-2020 17:58:00

बिलासपुर। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (जेपी नड्डा) ने शनिवार को हिमाचल के बिलासपुर जिले की एक जनसभा में कहा कि भारतीय जनता पार्टी सरकार बनाने के लिए नहीं, अपितु मां भारती की सेवा और गांव-गरीब-किसान के कल्याण के लिए सत्ता में आती है। बिहार विधानसभा चुनाव केवल बिहार का चुनाव नहीं था, बल्कि इसके साथ-साथ मध्य प्रदेश, गुजरात, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, मणिपुर और तेलंगाना में भी उप-चुनाव हुए थे। इससे पहले लद्दाख हिल काउंसिल के भी चुनाव संपन्न हुए थे। इन सभी चुनावों में कश्मीर से लेकर कच्छ तक और बिहार से लेकर मणिपुर तक हर जगह कमल खिला और जनता ने हमें आशीर्वाद देकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी में एक बार पुनः अपनी अटूट आस्था का परिचय दिया है। 

उन्होंने कहा कि यह विजय कोरोना काल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कोविड मैनेजमेंट और इस संक्रमण से देशवासियों को बचाने के लिए उठाये गए कदमों और बनाई गई नीतियों पर भी जनता की मुहर है। अमेरिका जैसी वैश्विक शक्ति भी जहां कोरोना के सामने अपने आप को असहाय पा रही थी, वहीं हमारे प्रधानमंत्री ने मानव कल्याण और अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए साथ-साथ काम कर दुनिया को आगे बढ़ने की राह दिखाई, जिसकी मुक्त कंठ से सराहना विश्व स्वास्थ्य संगठन से लेकर संयुक्त राष्ट्र संघ तक ने की। अमेरिका के वर्तमान राष्ट्रपति को तो वहां की जनता ने कोविड मैनेजमेंट में अक्षमता के लिए राष्ट्रपति चुनाव में पराजित भी कर दिया।

नड्डा बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए को जीत दिलाने के बाद पहली बार शनिवार को गृह क्षेत्र बिलासपुर पहुंचे। इस अवसर पर उनके स्वागत के लिए भाजपा ने यहां के लुहनु मैदान में अभिनंदन कार्यक्रम का आयोजन किया। राज्य के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुरेश कश्यप व बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता व आम जनता इस कार्यक्रम में मौजूद रही।

नड्डा ने कहा कि कोविड-19 लॉकडाउन के समय नरेन्द्र मोदी ने जहां एक ओर अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर भारत योजना की शुरुआत की, वहीं उन्होंने 1.70 लाख करोड़ रुपये से देश के गाँव, गरीब, किसान, बुजुर्ग, महिलाओं, दलितों, शोषितों, वंचितों और प्रवासी मजदूरों के कल्याण के लिए गरीब कल्याण योजना को भी अमलीजामा पहनाया। प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से लगभग 50 हजार करोड़ रुपये की लागत से गरीब कल्याण रोजगार योजना भी शुरू की गई है।

उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण उत्पन्न स्थिति में देश का कोई गरीब भूखा न सोने पाए, इसकी चिंता करते हुए प्रधानमंत्री ने देश के लगभग 80 करोड़ लोगों के लिए इस वर्ष मार्च महीने से लेकर नवम्बर तक मुफ्त राशन की व्यवस्था की। कोविड-19 संकट काल के समय माननीय प्रधानमंत्री जी ने डीबीटी के माध्यम से 20 करोड़ बहनों के खातों में पांच-पांच सौ रुपये के तीन किस्तों के रूप में 1500 रुपये उनके एकाउंट में भेजे तो बुजुर्गों, विधवाओं और दिव्यांगों को भी एक हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी गई। देश की 8 करोड़ से अधिक गरीब महिलाओं को लॉकडाउन के समय तीन महीने में तीन गैस सिलिंडर मुफ्त उपलब्ध करवाए गए। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भी अपनी जान की परवाह न करते हुए लॉकडाउन की स्थिति में लगभग 25 करोड़ से अधिक लोगों तक फूड पैकेट्स और राशन किट्स पहुंचाए। केंद्र सरकार, भाजपा की राज्य सरकारों और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने इस संकट काल में हर जरूरतमंदों तक मदद पहुंचाई।

नड्डा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी की सरकार के समय केंद्र से एक रुपया भेजा जाता था तो लाभार्थी तक महज 15 पैसे ही पहुंच पाते थे, जिसकी स्वीकारोक्ति प्रधानमंत्री रहते हुए स्वर्गीय राजीव गांधी जी ने भी की थी लेकिन मोदी सरकार में एक-एक रुपये बिना किसी बिचैलिए के सीधे लाभार्थियों के एकाउंट में पहुंचते हैं।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में डबल इंजन की सरकार चल रही है जो हिमाचल के विकास के लिए संकल्पित है। प्रधानमंत्री ने हिमाचल प्रदेश में एम्स, मदर एंड चाइल्ड हॉस्पिटल, सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल और पीजीआई दिया। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी के नेतृत्व में हिमाचल प्रदेश में चहुंओर विकास हो रहा है। 

यह खबर भी पढ़े: WHO ने दी बड़ी चेतावनी, कहा- कोरोना जैसी एक और महामारी के मुहाने पर खड़े हैं हम, नहीं संभले तो बर्बाद हो जाएगी एक सदी की मेहनत

यह खबर भी पढ़े: मालदीव में परिवार के साथ छुट्टियां मना रही रकुल प्रीत सिंह, Beach पर दिये बोल्ड पोज

Recommended

Spotlight

Follow Us