Karva Chauth 2020: सुहागिन महिलाओं के सबसे बड़ा पर्व हैं करवा चौथ, जानें तिथि, शुभ मुहूर्त, व्रत विधि

Daily Hunt News 29-10-2020 11:39:38

डेस्क। सभी विवाहित (सुहागिन) महिलाओं के लिये करवा चौथ बहुत महत्वपूर्ण त्यौहार हैं। इस दिन का वे पूरे साल इंतजार करती हैं। करवा चौथ व्रत का हिंदू धर्म में भी विशेष महत्व है। इस व्रत को पति की लंबी उम्र की कामना से रखा जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार, कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष चतुर्थी तिथि के दिन करवा चौथ का व्रत रखा जाता है। इस साल करवा चौथ का व्रत 4 नवंबर, बुधवार को रखा जाएगा। 

Karva Chauth

इस साल करवा चौथ व्रत पर पूजन का शुभ मुहूर्त शाम 5:29 बजे से 6:48 बजे तक का रहेगा। इस दिन चंद्रोदय रात 8:16 बजे पर होगा। पांचांग के अनुसार, चतुर्थी तिथि का आरंभ 4 नवंबर को 03:24 पर होगा। चतुर्थी तिथि 5 नवंबर शाम 5:14 तक रहेगी। 

Karva Chauth

करवाचौथ व्रत की पूजा विधि

करवा चौथ के दिन सुबह-सुबह उठकर स्नान आदि करने के बाद स्वच्छ वस्त्र धारण करें और व्रत का संकल्प लें। संकल्प लेने के लिए इस मंत्र का जाप करें-

‘‘मम सुखसौभाग्य पुत्रपौत्रादि सुस्थिर श्री प्राप्तये कर्क चतुर्थी व्रतमहं करिष्ये’

घर के मंदिर की दीवार पर गेरू से फलक बनाएं और चावल को पीसकर उससे करवा का चित्र बनाएं। इस रीति को करवा धरना कहा जाता है। शाम को मां पार्वती और शिव की कोई ऐसी फोटो लकड़ी के आसन पर रखें, जिसमें भगवान गणेश मां पार्वती की गोद में बैठे हों। कोरे करवा में जल भरकर करवा चौथ व्रत कथा सुनें या पढ़ें. मां पार्वती को श्रृंगार सामग्री चढ़ाएं या उनका श्रृंगार करें। 

Karva Chauth

 इसके बाद मां पार्वती भगवान गणेश और शिव की अराधना करें। चंद्रोदय के बाद चांद की पूजा करें और अर्घ्य दें। 

पति के हाथ से पानी पीकर या निवाला खाकर अपना व्रत खोलें। पूजन के बाद सास- ससुर और घर के बड़ों का आर्शीवाद जरूर लें। 

यह खबर भी पढ़े: Corona Vaccine: सबको फ्री में मिलेगी कोरोना वायरस की दवा- PM मोदी

Recommended

Spotlight

Follow Us