अगर अगर आपका पार्टनर भी सोते समय खाता हैं झटके, तो सकता है ये कारण

Daily Hunt News 02-10-2020 04:30:00

डेस्क। अक्सर आपने देखा होगा की आपके पार्टनर की बॉडी झटके से हिलती हो ये फिर आपको भी ऐसा लगता है जैसे आप सोते-सोते गिरने वाले हो और आप नींद में ही संभलने की कोशिश करने लगते हैं। म‍ेडिकल साइंस में इस स्थिति को हाइपनिक जर्क के कहा जाता हैं। ये कोई रोग नहीं है और ना ही कोई नर्वस सिस्टम डिसऑर्डर है। यह अचानक मांसपेशियों के या शारीरिक झटके हैं जो नींद आने के कुछ घंटों में आ सकते हैं। 

lifestyle

गहरी नींद में सोते हुए आपको अचानक से झटके सा लगता है। कई बार तो आप सपने में इस कदर फंस जाते हैं कि खुद को बचाने के लिए चिल्‍लाने लगते हैं। या तेज सांसे लेने लगते हैं। इस प्रॉब्‍लम पर हुई एक रिसर्च के मुताबिक दुनिया में 70 फसदी लोग ऐसे हैं जो इस समस्‍या से जूझ रहे हैं। ये स्थिति गंभीर नहीं हे लेकिन हां एक बड़े मानसिक तनाव की ओर जरूर संकेत करती है।

दरअसल इसे ‘हाइपनिक जर्क’ या स्लीप स्टार्टर के नाम से जाना जाता है. यह जगने और सोने के बीच की अवस्था होती है। यह झटके उस समय महसूस होते हैं जब आप ये आपका पार्टनर हल्की नींद में होता है। यानी ना तो पूरी तरह उठा हुआ होता है और ना गहरी नींद में होता है। आमतौर पर यह घटना सोने के पहले चरण में होती है जब हार्ट रेट और सांस धीरे होने लगती है।

रिसर्च के मुताबिक: 

वही एक रिसर्च के मुताबिक, कई लोगों को हाइपनिक जर्क लगते हैं लेकिन उन्हें या तो याद नहीं रहता है या फिर पता नहीं चल पाता है। खासकर तब अगर इन झटकों से किसी की नींद ना टूटे तो पता चलना काफी मुश्किल होता है। ये कोई बीमारी नहीं है और ना ही कोई नर्वस सिस्टम डिसऑर्डर है। इसे वैज्ञानिक और डॉक्टर्स स्वाभाविक प्रक्रिया ही मानते हैं।

lifestyle

क्या हैं वजह हाइपनिक जर्क

कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि इसके पीछे तनाव, चिंता, थकान या कैफीन लेना या फिर नींद की कमी जैसी वजह हैं।

एक रिपोर्ट के अनुसार, सोते समय मांसपेशियों में ऐंठन होने कारण हमें झटके महसूस होते हैं. साथ ही यह भी बताया गया है कि मांसपेशियों में ऐंठन होने का कारण साउंड और लाइट होते हैं।

यह खबर भी पढ़े: ग्रीन टी पीने के ये हैरान कर देने वाले फायदे नहीं जानते होंगे आप

Recommended

Spotlight

Follow Us