हाथरस गैंगरेप मामला: राहुल ने सीएम योगी से पूछा- पीड़ित परिजनों से मिलने से क्यों रोक रही है सरकार?

Daily Hunt News 01-10-2020 23:27:49

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए गैंगरेप मामले के पीड़ित परिवार से मिलने के लिए जा रहे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी के काफिले को पहले ग्रेटर नोएडा में पुलिस ने रोक लिया। इसके बाद राहुल और प्रियंका पैदल ही हजारों कार्यकर्ताओं के साथ हाथरस के लिए चल पड़े। नोएडा पहुंचने पर पुलिस ने यहां दोनों नेताओं को हिरासत में ले लिया है, इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं की यूपी पुलिस के साथ झड़प हुई। इस दौरान धक्का-मुक्की में राहुल गांधी गिर पड़े। 

हाथरस में हुए गैंगरेप मामले को लेकर विपक्षी पार्टियों ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोल रखा है। गुरुवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ पार्टी के कई नेता गैंगरेप पीड़ित के परिजनों से मिलने के लिए हाथरस रवाना हुए। हालांकि राजनेताओं के जमावड़े से माहौल बिगड़ने का डर बताकर राहुल और प्रियंका गांधी के काफिले को यमुना एक्सप्रेस-वे पर रोक दिया गया। बाद में राहुल और प्रियंका गांधी को यूपी पुलिस ने हिरासत में लिया। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प भी हुई। कांग्रेस ने आरोप लगाया गया है कि यूपी पुलिस के साथ धक्कामुक्की में राहुल गांधी गिर पड़े और पुलिस ने उन पर लाठियां भी चलाईं। फिलहाल पुलिस दोनों नेताओं को जीप में बैठाकर ले जा रही है।

कांग्रेस नेताओं को हाथरस जाने से रोकने पर राहुल गांधी ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि आखिर क्या वजह है कि पीड़ित के परिजनों से मिलने से लोगों को रोका जा रहा है। सरकार किस सच को छुपाना चाहती है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि दुख की घड़ी में अपनों को अकेला नहीं छोड़ा जाता। लेकिन यूपी में जंगलराज का ये आलम है कि शोक में डूबे एक परिवार से मिलना भी सरकार को डरा देता है। उन्होंने तंज सकते हुए कहा कि इतना मत डरो, मुख्यमंत्री महोदय। किस सच को छुपाने की कोशिश की जा रही है।

प्रियंका गांधी ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी योगी सरकार को लेनी ही होगी। जिस तरह से प्रदेश में महिलाओं के साथ अत्याचार हो रहे हैं, ये बंद होने चाहिए। प्रदेश में हर रोज दुष्कर्म के 11 मामले सामने आ रहा हैं। यही स्थिति पिछले साल भी थी। पिछले साल तकरीबन इसी समय हम उन्नाव की बेटी की लड़ाई लड़ रहे थे।

कांग्रेस नेताओं को हाथरस जाने से रोकने के लिए नोएडा डीएनडी फ्लाइवे पर सिक्योरिटी बढ़ाई गई है। साथ ही पुलिस व्यवस्था के तौर पर हाथरस बॉर्डर को सील कर दिया गया है और जिले में धारा-144 भी लागू की गई है। हाथरस में पीड़ित के घर वाले इलाके को बेरिकेडिंग लगाकर सील किया गया है। इस दौरान मीडिया एंट्री पर भी रोक है।

यह खबर भी पढ़े: हाथरस: पीड़ित परिवार के जारी पत्र पर समाजवादी पार्टी के नेता बोले शासन-प्रशासन दबाव बनाकर कुछ भी लिखवा सकता है

Recommended

Spotlight

Follow Us