हाथरस घटना दर्दनाक, पीडि़ता के परिजनों से न मिलने देना उससे भी दर्दनाक: राज ठाकरे

Daily Hunt News 01-10-2020 22:35:13

मुंबई। उत्तरप्रदेश के हाथरस जिले की घटना दर्दनाक तो है ही, उससे भी दर्दनाक पीडि़ता से मिलने से लोगों को रोकना है। योगी सरकार आखिर इस मामले में क्या देश की जनता से छिपाना चाह रही है।

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने गुरुवार को कहा कि हाथरस में जिस तरह समाज विशेष की लडक़ी के साथ जघन्य अत्याचार किया गया है, उससे देशवासियों में सिहरन फैल गई है। इस मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी व प्रियंका गांधी आज पीडि़ता के परिवार वालों से मिलने जा रहे थे। उत्तरप्रदेश सरकार को जब पता चला कि कांग्रेस नेता पीडि़ता के परिवार से मिलने जा रहे हैं तो सुबह ही धारा 144 लागू कर दिया। उसके बाद राहुल गांधी अकेले हाथरस जाना चाहते थे, लेकिन पुलिस ने उनके साथ मारपीट की। इस घटना में राहुल गांधी जमीन पर गिर पड़े और उनकी उंगली में चोट आ गई। यह तो हाथरस की घटना से भी दर्दनाक है। राज ठाकरे ने कहा कि इस घटना में आरोपितों को तत्काल न्याय मिलना ही चाहिए।

राज ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र में इक्का दुक्का घटना होने पर चिल्लाहट मचाने वाले अब चुप क्यों हैं। यह लोग हाथरस की इतनी बड़ी घटना पर मुंह नहीं खोल रहे हैं। हाथरस में पीडि़ता को उत्तरप्रदेश सरकार जीवित रहने पर ठीक से इलाज नहीं करवा सकी,मरने के बाद पीडि़ता को परिवार लोगों को दिखाए बिना ही रात के अंधेरे में जला दिया। इस घटना की जितनी निंदा, जितनी भत्र्सना की जाएं,कम ही होगी।

यह खबर भी पढ़े: भारत के VVIP बेड़े के लिए 'एयर इंडिया वन' का इंतजार अब खत्म, दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरा PM मोदी का 'बख्तरबंद' विमान

यह खबर भी पढ़े: निर्भया की अधिवक्ता सीमा कुशवाहा लड़ेंगी हाथरस केस, हाथरस पहुंचकर परिवार से भी मिलीं

Recommended

Spotlight

Follow Us