चीनी टिकटॉक ऐप और ओरेकल डील पर बनी सहमति, राष्ट्रपति ने दी हरी झंडी

Daily Hunt News 21-09-2020 06:12:00

लॉस एंजेल्स। चीनी बाइटडांस कम्पनी के टिकटॉक ऐप और ओरेकल के बीच नाटकीय मोड़ के बाद सहमति बन गई है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शनिवार को नार्थ कैरोलाइना रैली में जाने से पूर्व पत्रकारों से कहा कि उन्होंने टिकटॉक-ओरेकल डील पर सहमति दे दी है। ओरेकल के साथ अब अमेरिकी रिटेल में सबसे बड़ी चेन वालमार्ट को ओरेकल के साथ रखने पर सहमति दी है। टिकटॉक ने एक बयान में कहा है कि यह कंपनी ‘टिकटाक ग्लोबल’ के नाम से जानी जाएगी। इसमें मुख्य अंश बाइटडांस के होंगे और यह अमेरिका आ जाएगी, इसमें वालमार्ट भागीदार होगी।  

व्हाइट हाउस की ओर से कहा गया कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने टिकटॉक-ओरेकल के बीच डील को हरी झंडी दे दी गई है। टिकटॉक कम्पनी को बेचे जाने का प्रस्ताव विदेशों मामलों की विनियोजन कमेटी के विचाराधीन था। इस पर 20 सितम्बर तक कोई फ़ैसला नहीं होता है, तो यह समझौता खटाई में पड़ सकता था। टिकटॉक ने कहा है वह पच्चीस हजार लोगों को रोज़गार देगा।

रिपब्लिकन पार्टी के कुछेक सीनेटरों ने बुधवार को एक संयुक्त बयान में टिकटॉक ऐप को देश की सुरक्षा से जुड़े पहलुओं पर चिंताएं जाहिर की थी। रिपब्लिकन सीनेटर मार्को रूबियो, थाम तिलिस, जान कॉर्नयीन ने कहा था कि टिकटॉक की पैतृक चीनी कम्पनी ‘बाइटडांस’ के तार चीनी सत्ता से जुड़े हैं। ऐसे में उस कम्पनी पर कैसे भरोसा किया जा सकता है?  

इस पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बुधवार दोपहर प्रेस कांफ्रेंस में एक सवाल के जवाब में कहा था कि वह देशभर में टिकटॉक पर चल रही डिबेट से परिचित हैं। वह आँख मूँद कर हस्ताक्षर नहीं करेंगे। उन्होंने यह भी कहा था कि रविवार को टिकटॉक ऐप को डाउनलोड नहीं किया जा सकेगा। इस पर युवाओं ने टिकटॉक ऐप को डाउनलोड करना शुरू कर दिया था। इसके एक दिन पहले  ट्रम्प ने कहा था कि वह ओरेकल कम्पनी के संस्थापक लैरी एलिसन की इज्जत करते हैं।

टिकटाक ने हालांकि पिछले शनिवार की रात माइक्रोसाफट से तौबा कर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की एच्छिक ओरेकल टेक कम्पनी से हाथ मिला लिया था। कलवर सिटी स्थित टिकटॉक ने कैलिफ़ोर्निया की ही ओरेकल से समझौते सम्बन्धी सभी अपेक्षित दस्तावेज वाशिंगटन ट्रेज़री दफ़्तर में मंत्री स्टीव मयुँचिन को प्रेषित भी कर दिए थे। ट्रेज़री मंत्री ने भी आश्वस्त कर दिया था कि इन दस्तावेज़ों की इस सप्ताह के अंत तक समय पर समीक्षा कर ली जाएगी। इसके बावजूद अमेरिकी सांसदों को चीन की कथनी करनी पर भरोसा नहीं हो रहा है। इन्हें लगता है कि युवा पीढ़ी में अत्यधिक लोकप्रिय इस टिकटॉक ऐप को अभी तक जो डाटा दिए गए हैं, वह उस डाटा का अपने चीनी हुकुमरानों से साझा कर देश की सुरक्षा के लिए ख़तरा पैदा कर सकती है। टिकटाक प्रवक्ता हालांकि लिखित में यह आश्वासन दे चुका है कि वह अमेरिकी डाटा चीनी सरकार से कदापि साझा नहीं कर सकती।

यह खबर भी पढ़े: गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा, पुलिस भर्ती में मराठा समाज पर नहीं होगा अन्याय

यह खबर भी पढ़े: पिछले पांच वर्षों में 809 पाकिस्तानी बने भारतीय

Recommended

Spotlight

Follow Us