स्मृति शेषः कौथिग को फिर सजाना चाहते थे रवि शील, हमेशा उत्तराखंड के लिए धड़का उनका दिल

Daily Hunt News 20-09-2020 20:08:00

देहरादून। रवि शील बंगाल में पैदा हुए। वहीं पले-बढे़। वहीं से घड़ी के अपने कारोबार को विस्तार दिया, लेकिन दिल उनका हमेशा उत्तराखंड के लिए धड़का। यही कारण है कि सुपरहिट गढ़वाली फिल्म कौथिग का निर्माण जब एक बार अटका, तो अपने पिता के साथ उन्होंने इस फिल्म को पूरा करने का बीड़ा उठाया।

1988 में रिलीज हुई कौथिग की अभिनेत्री और फिल्म निर्मात्री उर्मि नेगी के साथ वह इन दिनों कौथिग को नए सिरे से लांच करने की योजना पर काम कर रहे थे, लेकिन कोरोना ने उन्हें असमय मौत के मुंह में धकेल दिया। उनके निधन से हर कोई सदमे में है।

गढ़वाली सिनेमा का इतिहास जिन सुनहरी फिल्मों से सजा है, उसमें कौथिग का महत्वपूर्ण स्थान है। जग्वाल, घरजवैं जैसी फिल्म के बाद कौथिग ने ही सबसे बड़ी सफलता हासिल की । कौथिग से रवि शील के जुड़ने की कहानी दिलचस्प है। पिता जेडी शील के साथ उन्होंने गढ़वाली सुपरहिट फिल्म घरजवै देखी थी। वह उन्हें भा गई। उत्तराखंड से भी वह प्यार करते थे।  उन्हें यहां के पहाड़, आबोहवा, संस्कृति सब कुछ बहुत आकर्षित करते थे। 

प्रख्यात अभिनेत्री और फिल्म निर्मात्री उर्मि नेगी के अनुसार, कौथिग का निर्माण एक बार रुक गया था। फिल्म के निर्देशक करण सिंह चौहान ने अपने मित्र जेडी शील और उनके पुत्र रवि शील से बात की तो वह इसके निर्माण के लिए तैयार हो गए। रवि न सिर्फ फिल्म के सह निर्माता रहे, बल्कि सह अभिनेता की भूमिका भी निभाई। फयोंली में भी रवि ने एक रोल किया था। 

इन दिनों इस फिल्म के लिए भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से कला श्री पुरस्कार प्राप्त कर चुकीं उर्मि नेगी और रवि शील कौथिग को री-लांच करने की तैयारी कर रहे थे। उर्मि के अनुसार-बंगाली होने के कारण रवि के लिए डबिंग की व्यवस्था करनी पड़ती थी, लेकिन वह किरदार में उत्तराखंड को जीवंत करते थे। उत्तराखंड सिनेमा से सरोकार रखने वाले हर व्यक्ति का मन रवि शील के जाने के बाद दुखी है। उर्मि नेगी का कहना है कि रवि के साथ कौथिग को री-लांच करने की जो योजना बनाई गई है, उसे वह पूरा करेंगी।

यह खबर भी पढ़े: गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा, पुलिस भर्ती में मराठा समाज पर नहीं होगा अन्याय

यह खबर भी पढ़े: पिछले पांच वर्षों में 809 पाकिस्तानी बने भारतीय

Recommended

Spotlight

Follow Us