अगर आप भी करते हैं रसगुल्ले का सेवन तो जरूर पढ़ें ये खबर

Daily Hunt News 16-09-2020 13:35:00

डेस्क। मिठाइयों में रसगुल्ले की बात ही अलग होती है। आमतौर पर रसगुल्ला हर किसी को बहुत पसंद होता है। लेकिन सेहत को लेकर सजग रहने वाले ज्यादातर लोग ये सोचकर रसगुल्ले से दूर रहते हैं। रसगुल्ला पसंदीदा मिठाई होने के साथ ही एक बेहतरीन प्रोटीन सोर्स भी है, इसलिए अगर आप मिठाई खाना पसंद करते हैं तो रसगुल्ला एक बढ़िया विकल्प हो सकता है। पीलिया को कम करने में रसगुल्ला काफी मदद करता है। आइए जानते हैं रसगुल्ला खाने के फायदों के बारे में... रसगुल्ले के गुण

Rasagulla

जानकारी के अनुसार आपको बता दें की रसगुल्ला कम कैलोरी वाली मिठाइयों में शामिल है। 100 ग्राम रसगुल्ले में 153 कैलोरी कार्बोहाइड्रेट, 17 कैलोरी फैट और 16 कैलोरी प्रोटीन होता है। रसगुल्ला एनर्जी से भरपूर होता है। इसके अतिरिक्त रसगुल्ले में भरपूर लैक्टोएसिड और केसिन पाया जाता है, जो सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। 

पीलिया में लाभकारी होता है रसगुल्लाबहुत से लोगों को इस बात की जानकारी नहीं है कि पीलिया में रसगुल्ला बहुत फायदेमंद होता है. जिस व्यक्ति को पीलिया है, यदि वह रोज सुबह एक रसगुल्ला खाएगा तो उसका पीलिया धीरे-धीरे खत्म हो जाएगा। 

Rasagulla

आंखों का पीलापन: आंखों में जलन या दर्द होने पर भी आप रसगुल्ले का सेवन करें इसके सेवन करने से आंखों में जलन की समस्या जड़ से खत्म हो जाती है। और जिन लोगों की आंखें हमेशा पीली नजर आती है और आंखों में जलन की समस्या बनी रहती है। उनके लिए भी रसगुल्ला लाभदायक होता है। इसके लिए नियमित रूप से रोज एक रसगुल्ले का सेवन करें। आंखें अच्छी रहेंगी और आंखों का पीलापन कम होगा और जलन की समस्या भी दूर होगी। 

कैल्शियम का अच्छा विकल्प: जानकारी के अनुसार रसगुल्ला दूध के छैने से बनता है। दूध के छैने में काफी मात्रा में कैल्शियम होता है। इसलिए रसगुल्ले के नियमित सेवन से हड्डियां भी मजबूत होती है। वहीं बुढ़ापे में हड्डियां घिस जाने या जोड़ों में दर्द होने जैसी समस्या भी नहीं रहती है। 

यूरिन में जलन की समस्या: यूरिन में जलन की समस्या जिन लोगों को अधिकतर बनी रहती है। वे लोग भी यदि रोज रसगुल्ला खाते हैं, तो उनकी यह समस्या जल्द ही ठीक हो जाएगी। रसगुल्ला ठंडी तासीर का होता है। 

मांसपेशियों की मजबूती में सहायक: शरीर की मांसपेशियों को मजबूती देने में प्रोटीन सहायक होता है। ऐसे में प्रोटीन की पूर्ति के लिए रसगुल्ले का सेवन लाभप्रद होता है। इसके अतिरिक्त जो लोग व्यायाम करते हैं, उनके लिए भी प्रोटीन डाइट आवश्यक होती है। वे लोग भी रसगुल्ला खा सकते हैं। 

Rasagulla

ये लोग रखें ध्‍यान

-गर्भवती महिलाओं को नुकसान पहुंचा सकता है गर्भवती महिलाओं को रोज दो रसगुल्ले से ज्यादा का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे उन्हें डायबिटीज हो सकती है। रसगुल्ला खाने के बाद महिलाओं को रोज थोड़ा पैदल जरूर चलना चाहिए। 

-डायबिटीज के रोगियों को विशेष रूप से रसगुल्ला नहीं खाना चाहिए, क्योंकि इसमें मौजूद भरपूर कार्बोहाइड्रेट शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ता है, जिससे रक्त में शुगर लेवल बढ़ जाता है। 

यह खबर भी पढ़े: अगर आपका भी होता हैं BP LOW तो जरूर खाएं ये चीजें, तुरंत मिलेगा फायदा

Recommended

Spotlight

Follow Us