आध्यात्मिक यात्रा: कहानी के माध्यम से जानिए ईश्वर ने हमें किस प्रकार का प्रेम करने को कहा है....

Daily Hunt News 10-08-2020 13:24:54

“हे मित्र !

अपनी हृदय-वाटिका में प्रेम के गुलाब के अतिरिक्त अन्य कुछ भी न उपजा और स्नेह तथा कामना के बुलबुल के प्रति अपनी निष्ठा को सुदृढ़ता पूर्वक धारण किये रहे । धर्मात्माओं की संगत को बहुमूल्य समझ और ईश्वर से विमुख लोगों के साथ का पूर्ण परित्याग कर।”

ईश्वर ने हमारे भीतर एक विशेष प्रकार की बगिया दी है | यह बगिया हमारा हृदय है । जिसे उसने अपने निवास स्थल के लिये चुना है, इस बगिया में हम विभिन्‍न प्रकार के सुन्दर फूल वाले पेड लगा सकते हैं अथवा झाड़-झंकार उगने दे सकते हैं। दूसरे शब्दों में हमें सावधान रहना होगा कि हमारे हृदय में बेकार और हानिकारक पौधे अपनी जड़े न जमाने पाए । ईश्वर चाहता है हम इसमें प्रेम के गुलाब लगाएं जो कि फूलों का राजा है न कि नफरत व शत्रुता के कांटे बोएं । ईश्वर की ओर से हमारे लिए प्रेम सबसे खूबसूरत उपहार है । प्रेम के साथ हम सारी समस्याओं को हल कर सकते हैं | जैसा कि अब्दुल बहा ने कहा है "जहाँ प्यार है वहाँ कुछ भी नामुमकित नहीं है और सदैव समय है"। जब हम किसी को प्यार करते हैं हमारा जीवन जोश और आपसी समझ से भरा होता है । हम स्वयं को कभी अकेला महसूस नहीं करते और हमारा हृदय दूसरों की सुखद स्मृतियों से परिपूर्ण होता है । जैसा हम दूसरों के साथ व्यवहार करेंगे दूसरे भी हमारे साथ वैसा ही व्यवहार करेंगे । हम या तो एक प्यारा खुशबू वाला गुलाब लगाएं या इसकी जगह कांटे लगाएं यह हमारे ऊपर निर्भर करता है ।

Spiritual journey know how God tests your patience through story

यदि तुम जीवन में सुखी और सफल होना चाहते हो तो अपने मित्रों की संख्या बढ़ाओ और जिस तरह सूर्य अपनी किरणें बिखेरता है वैसे ही उन पर अपना प्यार बिखेरो। 

एक सच्चे प्रेम का सर्वश्रेष्ठ उदाहरण धर्म भुजा जनाब फैजी हैं जो बिना किसी अपवाद के सभी को प्यार करते थे | वे बहाई जो उनके साथ उनके कर्म स्थलों पर रहे उनके बारे में अनेक सुन्दर व मर्मस्पर्शी कहानियाँ बताते हैं । ये कहानियां प्रेम के वास्तविक उदाहरण हैं जिनसे हमारे हृदय प्रसन्‍न होते हैं । चलो तुमको एक ऐसी ही कहानी बताते हैं । कई साल पहले जब वे एक बहुत गर्म देश में रहते थे वहाँ के एक शेख (शाही परिवार के सदस्य) ने उन्हें एक भेंट भेजी तुम कल्पना कर सकते हो कि वह भेंट
क्या थी ? यह एक बर्फ का बड़ा टुकड़ा था | शेख ने हाल ही में एक फ्रिज खरीदा था और जनाबे फैजी जो कि उनके बच्चों को अंग्रेजी पढ़ाते थे के प्रति प्रेम के स्वरूप यह अजीब भेंट भेजी थी | तुम लोग क्या सोचते हो कि उन्होंने क्या किया होगा ?

“उन्होंने इससे ठंडा पानी बनाया होगा और पी गए होंगे'' नईम ने कहा |

“ठीक है” मम्मी ने पूछा । “'इन दो आश्चर्यजनक व महान आत्माओं जैसे सच्चे प्रेमी अकेले वह ठण्डा पानी कैसे पी सकते थे जबकि वहाँ कई ऐसे बहाई परिवार थे जिन्हें सालों से ठण्डा पानी नसीब नहीं हुआ था। जनाब फैजी ने सभी बहाइयों को अपने घर आमंत्रित किया | जब सभी लोग आ गए तो श्रीमती फैजी एक तौलिये से लपेटा हुआ वह बर्फ का टुकड़ा लाई और उसे एक पानी से भरी बाल्टी में डाल दिया | यह एक अत्यन्त आश्चर्यजनक व अतिविस्मरणीय मौका था । देखो कैसा सुन्दर प्रेम है और कैसे एक दूसरे की जुबानी यह कहानी फैलती जाएगी । इस प्रकार के प्रेम के बारे में बहाउल्लाह  बताते है और हमसे चाहते हैं कि हम इस पर चले यह सदैव याद रखना चाहिए कि दो हृदयों के बीच एक सम्बन्ध होता है । दूसरे शब्दों में जब तुम किसी को प्यार करोगे तो वह भी तुम्हें प्यार करेगा।

Spiritual journey know how pure heart is through story

इस निगूढ़ वचन के दूसरे भाग में बहाउल्लाह ने एक अच्छे मित्र की महत्ता पर जोर दिया है और उसको एक खजाने की भांति बताया है, साथ ही गलत संगत से दूर रहने की भी हिदायत दी है । एक अच्छा मित्र हमारे आध्यात्मिक विकास का कारण हो सकता है और नास्तिकों की संगत उन जंगली झाड़-झंकार की भांति होती है जो कि अच्छे पौधों को भी नहीं पनपने देती ।

यदि कोई पढ़ना चाहता है तो बुरा दोस्त उसे पढ़ाई से दूर ले जाता है और यदि कोई धनवान है तो गलत संगत उसके धन का गलत इस्तेमाल करना सिखा देगी | हम जितना दूसरों को प्यार करेंगे उतने ही अधिक मित्र बना सकेंगे | इसलिए मेरे बच्चों , यदि कोई पवित्र जीवन जीता है तो बुरा मित्र उसे गलत तरीके की जिन्दगी में डाल सकता है इसलिए बुरे मित्रों से ज्यादा हानिकारक और क्या हो सकता है जो कि तुम्हारे जीवन को अध:पतन की ओर ले जा सकता है | यदि कुछ समय में तुमने अपने नए मित्र को अपने विचारों से प्रभावित नहीं किया तो निश्चय ही वह तुम्हें प्रभावित करने लगेगा । एक सही मित्र का चुनाव इतना महत्वपूर्ण है कि वह तुम्हारी जिन्दगी की दशा ओर दिशा को तब्दील कर सकता है। में इसे दोहराना चाहूँगी कि किसी व्यक्ति के चरित्र को नष्ट करने में उसके गलत मित्रों से बढ़कर कोई भी शक्ति प्रभावशाली नहीं है । उदाहरण के लिये यह एक गलत संगत ही है जो धूम्रपान की आदत डालती है | वह कहेगा “आओ एक कश लगा लो" तुम कह सकते हो “नहीं, मैं सिगरेट नहीं पीता'' वह पुन: कहेगा, अरे आओ भी, एक कश में कोई नुकसान नहीं होगा । आओ मजे लो जीवन छोटा है इस ठण्ड के मौसम में एक कश में कितना आनन्द आता है । तुम्हारे माता-पिता को कभी पता नहीं चलेगा अथवा आओ थोड़ी शराब पी लो तुम कहोगे - नहीं कभी नहीं, वह कहेगा अरे यार तुम तो एकदम दकियानूसी विचार के हो । तुम कहोगे, नहीं यह तो दकियानूसी नहीं है, वह पुन: कहेगा "तो एक बूंद अल्कोहल से तुम्हारे इतने बड़े शरीर में क्या नुकसान होगा बल्कि तुम्हें गर्मी और ऊर्जा मिलेगी।" वह पुन: जोर देगा तो तुम पहले एक बूंद से शुरू करोगे फिर दूसरी और इसके बाद ईश्वर जानता है कहाँ अंत होगा | बहुत जल्द तुम स्वयं को नरक के बोतल में डूबते पाओगे । ध्यान दो अपनी तबाही की सड़क की मात्र शुरूआत है ।

bahai 

यह तो तुमने देखा कि इस संसार में एक सच्चा मित्र खाजाने की भांति है। वह तुम्हारे जीवन को ज्योति और सदा-सर्वदा की प्रसन्‍नता प्रदान कर सकता है और एक गलत मित्र सांप के जहर की भांति है जो धीरे-धीरे परन्तु निश्चय ही तुम्हारी आत्मा को डसेगा । “इसी तरह हमारे भीतर एक गलत और खतरनाक मित्र निवास करता है''

पिता ने कहा, “वह है ईर्ष्या"।

यह खबर भी पढ़े: आध्यात्मिक यात्रा: कहानी के माध्यम से जानिए ईश्वर कैसे लेते है अपने धैर्य की परीक्षा

Recommended

Spotlight

Follow Us