आपस में भिड़े ‘जिगरी यार’! CPEC पर काम कर रहे Chinese Troops ने पाकिस्तानी सैनिकों को जमकर पीटा

Daily Hunt News 10-08-2020 13:14:18

नई दिल्ली। हाल ही में चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरीडोर (CPEC) पर काम करने वाले चीन के कर्मचारियों द्वारा पाकिस्तानी सैनिकों को पीटने का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक चीनी सैनिकों (Chinese Troops) ने पाकिस्तानी सैनिकों को बुरी तरीके से पीटा है। 

बताया यह भी जा रहा है कि चीन के कर्मचारियों ने पाकिस्तानी सैनिकों की कथित रूप से पिटाई भी की है। यह घटना 21 जुलाई की है लेकिन पाकिस्तान की तरफ से इस मामले में कुछ भी नहीं कहा गया है। इसके पहले भी सीपीईसी का निर्माण कार्य करने वाले चीनी कर्मचारियों एवं पाकिस्तानी सैनिकों के बीच झड़प की घटनाएं सामने आ चुकी हैं। 

chaina

पाकिस्तानी सैनिकों का आरोप है कि उनके कमांडिंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट कर्नल इमरान कासिम चीनी सेना के साथ मिले हुए हैं। यह विवाद चीन और पाकिस्तान के बीच वर्कर्स की पोजीशन को लेकर हुआ है। 

दरअसल, सीपीईसी के निर्माण कार्य में चीन को स्थानीय मजदूरों की जरूरत पड़ती है। चीनी कंपनियों को मजदूरों की आपूर्ति पाकिस्तानी सेना के कर्नल एवं ब्रिगेडियर रैंक के अधिकारी करते हैं। हाल ही में 500 चीनी सैनिक कराची CPEC प्रोजेक्ट को लेकर पहुंचे हैं। 

Pakistan and China

पाक सेना के ये अधिकारी सामान्य दर से काफी ज्यादा महंगे दर पर चीनी कंपनियों को मजदूर उपलब्ध कराते हैं। ये बात चीन कंपनियों के कर्मचारी भी जानते हैं। कई बार मजदूरों की ऊंची दिहाड़ी को लेकर भी पाकिस्तानी सैनिकों एवं चीनी कर्मचारियों के बीच झड़प हो चुकी है। 

चीनी कर्मचारियों द्वारा पाकिस्तानी सैनिकों के पीटे जाने की घटना पाकिस्तान के दोहरा चरित्र को उजागर करती है। चीन चाहे जैसा भी सलूक पाकिस्तान के साथ करे, वह उसके खिलाफ एक शब्द भी नहीं बोल सकता। यह घटना दिखाती है कि पाकिस्तान चीन के सामने किस तरह नतमस्तक हो चुका है। 

Pakistan and China

वहीं, पाकिस्तानी सैनिकों का इस विवाद से मनोबल डाउन हुआ है। सूत्रों के मुताबिक इस घटना ने पाकिस्तानी सेना के हौसलों को पस्त कर दिया है। लेफ्टिनेंट कर्नल इमरान कासिम जो कि बहावलपुर स्पेशल सिक्योरिटी डिवीज़न की विंग 27 के कमांडिंग ऑफिसर ने 341 लाइट कमांडो ब्रिगेड हेडक्वार्टर को इस विवाद की जानकारी दी है। उन्होंने कहा है कि पाकिस्तानी और चीनी सैनिकों के बीच वर्कर्स की पोजीशन को लेकर विवाद हुआ है। 

यह खबर भी पढ़े: मणिपुर में कांग्रेस लाई है एनडीए सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव, फ्लोर टेस्ट आज

यह खबर भी पढ़े: मोदी सरकार की अंडमान को मिली नई सौगात, समुद्र के नीचे बिछाई सबमरीन ऑप्टिकल फाइबर केबल, मिलेगी 400 GBPS तक की स्पीड

 

Recommended

Spotlight

Follow Us