मिशन राम मंदिर/हॉन्ग कॉन्ग के रास्ते PoK से अयोध्या लाई गई शारदा पीठ की पवित्र मिट्टी, चीन के पासपोर्ट पर दिया गया काम को अंजाम, जानिए कैसे?

Daily Hunt News 06-08-2020 12:09:33

अयोध्या। श्री राम मंदिर का वर्षों का भारतवासियों का सपना जल्द पूरा होने वाला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को मंदिर की आधारशिला रख दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को निर्धारित शुभ मुहूर्त 12 बजकर 44 मिनट आठ सेकेंड से लेकर 12 बजकर 44 मिनट 40 सेकेंड के बीच मंदिर की आधारशिला रखी। 

प्रधानमंत्री मोदी ने मंदिर की नींव में चांदी की ईंट रखकर भूमिपूजन का कार्य पूरे विधि-विधान के साथ संपन्न किया। श्रीराम मंदिर के लिए नींव में देश के अलग-अलग हिस्सों से मिट्टी और नदियों का जल लाया गया था। वहीं एक बड़ी जानकारी भी सामने आ रही है कि मंदिर के निर्माण के लिए पाकिस्तान के कब्जे वाले शारद पीठ के मंदिर से भी मिट्टी लाई गई है और इसे नींव में डाला गया है।

गौरतलब है कि भारत और पाकिस्‍तान की दुश्‍मनी के चलते यह इतना आसान नहीं था। पीओके में किसी भारतीय को जाने की इजाजत नहीं है। लेकिन राममंदिर के लिए शारदा पीठ की मिट्टी लाने का ये मिशन एक भारतवंशी दंपति ने ही पूरा किया वो भी चीन के पासपोर्ट पर। दंपति हांगकांग के रास्‍ते यह मिट्टी लेकर आया। 

जानकारी के मुताबिक चीन में रहने वाले कर्नाटक के वेंकटेश रमन को उनकी पत्नी को गुलाम कश्मीर भेजा गया जो वहां चीन के पासपोर्ट के साथ हांगकांग के रास्ते पहुंचे।वह गुलाम कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद पहुंचे और वहां से वह शारदा पीठ तीर्थ स्थल पर पहुंचे और फिर वहां की मिट्टी लेकर वापस हांगकांग के रास्ते दिल्ली पहुंचे। 

बताया जाता है कि रमन ने इस मिट्टी को दिल्ली में शारदा पीठ से जुड़े अंजना शर्मा को सौंपा और वह इस मिट्टी को लेकर अयोध्या पहुंचे और आधारशिला में मां शारदा के मंदिर की मिट्टी को रखा।

बताया जाता है कि गुलाम कश्मीर में स्थित शारदा पीठ करीब 5,000 साल पुराना मंदिर है औऱ ये हिंदूओं के प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों में से है। लेकिन पाकिस्तान द्वारा गुलाम कश्मीर पर कब्जा करने के बाद ये पाकिस्तान के हिस्से में चला गया। इस मंदिर को सम्राट अशोक के शासनकाल में स्थापित किया गया था। यह मंदिर गुलाम कश्मीर में स्थित है और यहां किसी भी भारतीय को जाने की इजाजत नहीं है। 

Ram Mandir Bhumi Pujan Updates  Prime Minister Narendra Modi arrives in Lucknow by special plane will reach Ayodhya at 11 am

पाक अधिकृत कश्‍मीर में स्थित शारदा पीठ कश्‍मीरी पंडितों के तीन पवित्र स्‍थलों में से एक है। यह नीलम नदी के किनारे है। यह भारत के उरी से करीब 70 किलोमीटर दूर है। पीओके के शारदा पीठ तक पहुंचने के लिए दो रास्‍ते हैं। पहला मुजफ्फराबाद की तरफ से और दूसरा पुंछ-रावलकोट की ओर से। उरी से मुजफ्फराबाद वाला मार्ग प्रचलित है। ज्‍यादातर लोग यहीं से जाते हैं। पिछले साल 25 मार्च को पाकिस्‍तान सरकार ने शारदा पीठ तक एक कॉरीडोर को मंजूरी दी थी, ताकि भारत के हिन्‍दू वहां दर्शन कर सकें। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

यह खबर भी पढ़े: राजस्थान स्टेट ओपन स्कूल जयपुर से 10वीं एवं 12वीं परीक्षा देने वाली छात्राओं के लिए खुशखबरी, अब नहीं देना पड़ेगा परीक्षा शुल्क

यह खबर भी पढ़े: विश्वविद्यालय स्तरीय परीक्षाओं को लेकर तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री ने केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री को लिखा पत्र, किया ये अनुरोध

 

Recommended

Spotlight

Follow Us