सीएम गहलोत ने कहा- प्रधानमंत्री को राजस्थान का तमाशा रोकना चाहिए, हॉर्स ट्रेडिंग के रेट बढ़...

Daily Hunt News 01-08-2020 17:09:26

जयपुर। राजस्थान में जारी सियासी उठापटक के बीच विधानसभा सत्र से पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत किसी तरह का जोखिम नहीं लेना चाहते हैं। यही वजह है कि एक तरफ जहां उन्होंने अपने समर्थक विधायकों को जयपुर से दूर जैसलमेर शिफ्ट करा दिया है तो वहीं मुख्यमंत्रीने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री को राजस्थान में चल रहा तमाशा रोकना चाहिए।

उन्होंने कहा कि  राज्य में खरीद-फरोख्त के रेट बढ़ गए हैं। क्या ‘तमाशा’ चल रहा है?" उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के कहने पर लोगों ने ताली-थाली बजाई और मोमबत्ती जलाई। देश की जनता ने उन्होंने दो बार मौका दिया। ऐसे में चाहिए कि जो कुछ राजस्थान में तमाशा चल रहा है उसे पीएम मोदी बंद कराए।

आपको बता दें कि खरीद-फरोख्त का खतरा बढ़ने की वजह से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने गुट के विधायकों को राजधानी जयपुर से 570 किलोमीटर दूर जैसलमेर के सूर्यगढ़ पैलेस होटल में पहुंचा दिया है। खुद गहलोत 15 मंत्री और 73 विधायकों समेत कुल 88 विधायक शुक्रवार को शिफ्ट हो गए। 4 विधायकों के शनिवार को जैसलमेर पहुंचने और गहलोत के जयपुर लौट आने के आसार हैं।

इससे पहले, जब फोन टैपिंग का मामला सामने आया था उस वक्त भी गहलोत ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर उनसे कहा था कि राज्य में उनकी सरकार को अस्थिर करने का प्रयास किया जा रहा है। इसके अलावा, जब राज्यपाल कलराज मिश्र से की तरफ से लगातार अनुरोध के बावजूद जब उन्हें विधानसभा सत्र शुरू करने की इजाजत नहीं दी जा रही थी, तब भी इस बारे में उन्होंने पीएम मोदी को बताया था।

यह खबर भी पढ़े: राज्यसभा सांसद अमर सिंह का सिंगापुर में निधन

Recommended

Spotlight

Follow Us