जैसलमेर: बाड़ाबंदी में मुस्लिम विधायकों ने पढ़ी ईद की नमाज, दूर से दी मुबारकबाद

Daily Hunt News 01-08-2020 14:30:20

जैसलमेर। सियासी संकट के बीच जैसलमेर के सूर्यगढ़ रिसोर्ट में पहुंचे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खेमे के मुस्लिम विधायकों ने शनिवार को ईद उल अजहा का पर्व मनाया। कांग्रेस के 9 मुस्लिम विधायकों ने बकरीद की नमाज अदा कर एक-दूसरे को ईद की मुबारकबाद दी और प्रदेश व देश में सुख-शांति और खुशहाली के लिए दुआ की।

कोरोना महामारी के चलते शारीरिक दूरी के नियम का पालन करते हुए कैबिनेट मंत्री साले मोहम्मद, वरिष्ठ विधायक अमीन खान, साफिया जुबेर, हाकम खान, अमीन कादरी, रफीक खान, जाहिदा खान, वाजिब अली और दानिश अबरार ने एक-दूसरे के गले नहीं मिलकर दूर से ही एक-दूसरे को मुबारकबाद दी।विधायकों को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी ईद की मुबारकबाद दी। रिसोर्ट में नमाज अदा करने की व्यवस्था कैबिनेट मंत्री साले मोहम्मद की ओर से की गई थी। उन्होंने मिठाई खिलाकर विधायकों का मुंह मीठा कराया। विधायकों के साथ जैसलमेर पहुंचे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का शनिवार दोपहर तक जयपुर लौटने का कार्यक्रम है। इससे पहले वे विधायकों की बैठक में शामिल होंगे।

उल्लेखनीय है कि हॉर्स ट्रेडिंग का खतरा बढ़ने की वजह से मुख्यमंत्री गहलोत ने अपने गुट के विधायकों को राजधानी जयपुर से 570 किलोमीटर दूर जैसलमेर के सूर्यगढ़ पैलेस होटल में पहुंचा दिया है। खुद गहलोत अपने 15 मंत्रियों और 73 विधायकों समेत कुल 88 विधायक शुक्रवार को शिफ्ट हुए। गहलोत के 6 मंत्रियों समेत 14 विधायक अभी बाहर हैं। इनमें बीमार चल रहे तीन विधायक परसराम मोरदिया, मास्टर भंवरलाल मेघवाल और बाबूलाल बैरवा हैं।

विधानसभा का सत्र 14 अगस्त को शुरू होगा। तब तक विधायकों के जैसलमेर में ही रहने की उम्मीद है। बताया जा रहा है कि जैसलमेर की तनोट माता में मुख्यमंत्री गहलोत की बड़ी आस्था है। यहां लाए गए विधायकों को तनोट माता के दर्शन करवाने की चर्चा भी चल रही है।

यह खबर भी पढ़े: कौन है जैसलमेर में कांग्रेस विधायकों की मेहमाननवाजी करने वाले धुरंधर? पलक झपकते ही खेल जाते है शह और मात का खेल

यह खबर भी पढ़े: मुख्यमंत्री गहलोत की आदिवासी समाज को बड़ी सौगात, अब प्रदेश में 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर रहेगा सार्वजनिक अवकाश

Recommended

Spotlight

Follow Us