पंचायत के फरमान के बाद एक दुल्हे ने दो दुल्हन के साथ रचाई शादी

Daily Hunt News 09-07-2020 08:41:02

बैतूल। अभी तक आपने एक अनार और सौ बीमार वाली कहावत तो सुनी ही होगी। जी-हाँ इससे ठीक मिलता जुलता एक उदाहण सामने आया है जिसमें आदिवासी पंचायत के फरमान के बाद एक मंडप में एक दुल्हे ने दो-दो दुल्हन के साथ सात फेरे लिए हैं। यह मामला मध्यप्रदेश के बैतूल जिला मुख्यालय से करीब 40 किलोमीटर दूर विकासखंड़ घोड़ाडोंगरी के अंतर्गत आने वाले ग्राम केरिया का है जहां बुधवार को एक ही मंडप में एक दुल्हे ने दो दुल्हनों से शादी रचाई है। इस अनोखी शादी का वीडियो भी खूब वायरल हो रहा है। प्रशासन को इसकी भनक लगते ही प्रशासन ने जांच कराने की बात कही है। इस मामले में घोड़ाडोंगरी तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा का कहना है कि हमारे द्वारा ऐसी किसी शादी की परमिशन नहीं दी गई है। बिना परमिशन की शादी हुई है, पटवारी को भेजकर मामले की जांच करा रहे हैं।

पंचायत ने सुनाया फैसला और हो गई शादी
ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार केरिया गांव के आदिवासी युवक संदीप उईके ने होशंगाबाद जिले की एक युवती एवं घोडाडोंगरी तहसील के कोयलारी गांव की एक अन्य युवती से एक साथ विवाह किया। युवक भोपाल में रहकर पढ़ाई कर रहा था, इस दौरान होशंगाबाद जिले की युवती से उसकी दोस्ती हो गई। इस दौरान घर वालों ने कोयलारी गांव की युवती के साथ उसका विवाह तय कर दिया। इसके बाद विवाद होने लगा। विवाद को दूर करने के लिए तीनों परिवारों एवं समाज के लोगों ने पंचायत बुलाई। इसमें निर्णय लिया गया कि यदि दोनों लड़कियां युवक के साथ, एक साथ रहने के लिए तैयार हैं, तो दोनों की शादी लड़के से करा दी जाए। इस पर दोनों लड़कियां राजी हो गईं और युवक से शादी करने के लिए तैयार हो गईं।

एक युवक ने की दो युवती से शादी
जिले की घोडाडोंगरी तहसील के केरिया गांव में युवक ने एक मंडप में अपनी दो प्रेमिकाओं के साथ सात फेरे लिये। इस शादी में दूल्हा-दुल्हन के परिवारों के साथ गांव के लोग भी शामिल हुए। यह पहला मौका था जब एक मंडप में दूल्हा एक और दो दुल्हन थीं। दूल्हे ने एक साथ दोनों दुल्हन के साथ सात फेरे लिए एवं एक साथ शादी की सारी रस्में पूरी की। इस शादी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जनपद पंचायत घोडाडोंगरी के उपाध्यक्ष मिश्रीलाल परते ने बताया कि केरिया गांव के युवक ने दो युवतियों के साथ एक सात फेरे लिए हैं। तीनों परिवारों ने मिलकर समाज के वरिष्ठ लोगों के साथ बैठक करके निर्णय लिया है।

यह खबर भी पढ़े: चीन की आक्रामक कार्रवाई का भारत ने दिया करार जवाब : अमेरिका

यह खबर भी पढ़े: रेलवे का निजीकरण नहीं किया जा रहा : गोयल

Recommended

Spotlight

Follow Us