अमेरिका भेजने का झांसा दे ठगे 22 लाख रुपये, फ्रांस का नागरिक बना मैक्सिको भेजा

Daily Hunt News 08-07-2020 06:06:00

पानीपत। अमेरिका में नौकरी करने की लालसा में पानीपत के युवक ने जहां 22 लाख रुपये गंवाएं। नगदी ठगने के आरोपितों ने फर्जी कागजात तैयार कर युवक को फ्रांस का नागरिक बना कर अमेरिका भेजने के बजाय मैक्सिको भेज दिया। 

मैक्सिको पुलिस ने युवक को पकड़ लिया और उसे दो माह तक प्रताडित करने के लिए उससे मजदूर के रूप में कमरतोड़ काम करवाया। युवक की शिकायत पर थाना हुडा सेक्टर 13/17 पुलिस ने मंगलवार को चार आरोपितों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरमीत सिंह पुत्र कबुल सिंह निवासी खुशी फोर्ड, हुडा सेक्टर-8, पानीपत व प्रीत विहार, बरसत रोड, पानीपत ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह, खुशी फोर्ड के शोरूम पर कार विक्रेता के रूप में काम करा है, वहीं बलहार सिंह, व साहब सिंह पुत्र टहल सिंह निवासी गांव तलहेडी जिला कुरुक्षेत्र, बलहार सिंह पुत्र महिंद्र सिंह व सुखदीप सिंह पुत्र संतोख सिंह निवासी गांव सोकडा जिला करनाल, कार की खरीद के लिए खुशी फोर्ड शोरूम पर आते थे, इसके चलते गुरमीत की चोरों से अच्छी जान पहचान हो गई, चारों ने गुरमीत से मित्रता कर ली और उसे अमेरिका भेजने का झांसा देकर उससे 22 लाख रूपये वसूल कर लिए। 

गुरमीत ने बताया कि उन्होंने अपनी भूमि बेच कर व कर्ज लेकर 22 लाख एकत्र कर आरोपितों को दिए, वहीं आरोपितों ने तीन जून 2018 को उसके असली कागजात लेकर उसे फ्रांस का नागरिक बना कर अमेरिका के बजाए मैक्सिको भेज दिया। मैक्सिको में पुलिस ने गुरमीत को पकड़ लिया। लोकल नागरिकों की मदद से 28 जुलाई 2018 को वापस भारत आया।

आरोपितों ने गुरमीत से जल्द ही उसे 22 लाख रूपये देने का वादा किया, इस मामले को लेकर कई बार सामाजिक रूप से पंचायतें भी हुई, पंचायतों में आरोपितों ने चालू वर्ष के दस फरवरी तक नगदी की वापसी तय हुई। गुरमीत का आरोप है कि आरोपितों ने वादे के अनुसार उनकी नगदी नहीं लौटाई और उसे हत्या करने की धमकी दी। एएसआई नेपाल सिंह ने बताया कि गुरमीत की शिकायत पर कुरूक्षेत्र निवासी सगे भाइयों व करनाल के दो निवासियों कुल चार लोगों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

Recommended

Spotlight

Follow Us