चीनी सैनिकों को पीछे धकेलने के लिए मोदी सरकार ने किया अपने सबसे मजबूत कूटनीतिक हथियार का प्रयोग, 2 किमी. तक पीछे हटी सेना

Daily Hunt News 07-07-2020 02:01:00

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच बॉर्डर पर तनाव कम करने की कोशिश हो रही है और LAC पर इसका असर दिखना शुरू हो गया है। दरअसल, लद्दाख के गलवान घाटी से चीनी सैनिकों को पीछे धकेलने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने सबसे मजबूत कूटनीतिक हथियार का प्रयोग किया था। केंद्र ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को मोर्चे पर लगा दिया था और उन्होंने रविवार को चीनी समकक्ष वांग यी के साथ करीब दो घंटे तक वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक की थी। 

भारत के सख्त रुख के बाद चीन के पास पीछे हटने के अलावा कोई और चारा भी नहीं था। भारत ने ड्रैगन को चौतरफा घेर रखा है चीन के 59 ऐप्स पर बैन के बाद पेइचिंग पूरी तरह से हिल गया था। इसी बातचीत में गलवान में तनाव कम करने पर सहमति बनी। चीनी सेना ने अपने टेंट, सामान और सैनिकों को दो किमी. तक पीछे कर लिया है। हालांकि, अभी 72 घंटे का वक्त वेरिफिकेशन के लिए तय किया गया है, इस बीच एक बफर जोन बना दिया गया है ताकि किसी तरह की झड़प ना हो। 

There was a 2hour talk between NSA Ajit Doval and Wang Yi 2 km by the Chinese Army on LAC Tented back

आपको बता दें कि भारत और चीन के बीच लंबे वक्त से सीमा विवाद चल रहा है, इसे सुलझाने के लिए दोनों देशों की ओर से प्रतिनिधि तय किए गए हैं, भारत की ओर से अजित डोभाल ही स्थाई प्रतिनिधि हैं। अजित डोभाल ने अपने समकक्ष से बॉर्डर पर शांति स्थापित करने को लेकर बात की और आगे साथ में काम करने पर मंथन किया। दोनों के बीच इस बात पर सहमति बनी है कि भविष्य में इस प्रकार की घटनाएं ना हों, इसके अलावा बॉर्डर पर फेज़ वाइज़ सेना के पीछे हटने पर भी सहमति बनी है। साथ ही दोनों पक्ष लगातार बॉर्डर को लेकर जो विवाद जारी है, उसपर बातचीत चलती रहेगी।

गौरतलब है कि बीते शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक लेह पहुंच गए थे, पीएम मोदी नीमू पोस्ट तक गए थे, जहां बड़ी संख्या में जवान मौजूद हैं। यहां से ही पीएम मोदी ने चीन को संदेश दिया था और कहा था कि विस्तारवाद का वक्त अब टल गया है, ये समय विकासवाद का है। चीनी विदेश मंत्रालय का कहना है कि शांति स्थापित करने के लिए अग्रिम मोर्चे पर कुछ कदम उठाए गए हैं, इनमें सैनिकों को वापस हटाने की प्रक्रिया शुरू हुई है।

यह खबर भी पढ़े: रणवीर के वो 5 बेहतरीन कैरेक्टर, जिन्होंने उन्हें बनाया बॉलीवुड का सुपरस्टार

यह खबर भी पढ़े: कांग्रेस को इस राज्य में लगा करारा झटका, BJP में शामिल हुए कई युवा

Recommended

Spotlight

Follow Us