केंद्रीय मंत्री ने दिया बड़ा बयान,कहा- भारत ने चीन पर की है की है डिजिटल स्ट्राइक, अगर कोई बुरी नजर डालेगा तो हम मुंहतोड़ जवाब देंगे

Daily Hunt News 03-07-2020 03:54:00

नई दिल्ली। लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के धोखे और ड्रैगन संग तनातनी के बाद भारत ने चीन के 59 ऐप्स पर बैन लगा दिया। भारत के इस कदम को केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इसे चीन पर 'डिजिटल स्ट्राइक' बताया हैं। 

59 Chinese applications

न्यूज एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया के मुताबिक प्रसाद ने कहा, 'हमने देश के लोगों को डेटा की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इन चीनी ऐप्स पर बैन लगाया है। यह एक डिजिटल स्ट्राइक था।' 

59 Chinese applications

भारत-चीन सीमा विवाद पर प्रसाद ने ये भी कहा कि भारत शांति चाहता है, लेकिन अगर कोई बुरी नजर डालेगा तो हम मुंहतोड़ जवाब देंगे। उन्होंने पश्चिम बंगाल की रैली में ये सवाल भी उठाया कि ‘‘सीपीआई (एम) चीन की निंदा क्यों नहीं कर रही है?’’

TikTok

बताया जा रहा है कि भारत सरकार के इस कदम से चीन को भारी नुकसान होने वाला है। इस फैसले से चीनी इंटरनेट कंपनी ByteDance जो Tik Tok की भी मदर कंपनी है उसको 6 बिलियन डॉलर का नुकसान हुआ है।

59 Chinese applications

वहीं बैन होने के बाद टिक टॉक ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि वह सरकार के फैसला का पालन करेगा। टिक टॉक ने दावा किया है कि उसने कभी भी भारतीय यूजर्स का डेटा चीनी सरकार का साथ शेयर नहीं किया है। टिक टॉक के अधिकारी पूरे मामले पर सरकार से जल्द ही बात भी करेंगे।

59 Chinese applications

बता दें कि भारत सरकार ने जिन एप पर बैन लगाया गया है उनमें मशहूर टिक-टॉक के अलावा यूसी ब्राउजर, कैम स्कैनर जैसे और फेमस ऐप शामिल हैं। TikTok, Shareit, UC Browser, DU battery saver, Helo, Likee, WeChat, UC News, BigoLive और Vigo Video वो 10 ऐप हैं जो भारत में काफी पॉपुलर थे।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

यह खबर भी पढ़े: Jio यूजर्स की हो रही है बल्ले-बल्ले, बहुत सस्ते में मिल रही है रोज 3GB डेटा और कॉलिंग सुविधा

यह खबर भी पढ़े: भारत के खिलाफ चीन की अब नई चाल, पैसे और हथियार देकर आतंकवादी समूहों से ले रहा है सहारा

 

Recommended

Spotlight

Follow Us