तो क्या अपनी ही पार्टी में घिरे नेपाल के पीएम केपी ओली देंगे इस्तीफा? राष्ट्रपति से की मुलाकात

Daily Hunt News 02-07-2020 16:22:57

नई दिल्ली। भारत के साथ जारी नक्शा विवाद के बीच नेपाल में सियासी हलचल तेज हो गयी है। सत्ताधारी नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी में बगावत का दौर चल रहा है कम्युनिस्ट पार्टी के दूसरे अध्यक्ष पुष्प कमल दहल 'प्रचंड' सहित वरिष्ठ नेता प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली से पद से उनके इस्तीफे की मांग कर रह हैं। इसी बीच गुरुवार को नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली ने कैबिनेट बैठक से पहले राष्ट्रपति बिद्या भंडारी से मुलाकात की। इसके बाद आपात कैबिनेट बैठक में मौजूदा बजट सत्र को रद्द करने का फैसला किया गया। 

अब खबर है कि केपी ओली आज नेपाल की जनता को संबोधित भी कर सकते हैं।  इसको लेकर तमाम तरह की अटकलें शुरू हो गई हैं। चर्चा है कि वे आज प्रधानमंत्री पद से इस्तीफे का ऐलान कर सकते हैं। मिली खबर के मुताबिक ओली ने मंगलवार देर रात चीनी राजदूत से भी मुलाक़ात कर मदद मांगी थी लेकिन वहां से भी उन्हें निराशा ही हाथ लगी है। ऐसी ख़बरें हैं कि पार्टी को टूटने से बचने के लिए अब ओली को जल्द इस्तीफा देना पड़ सकता है 

अगर ओली प्रधानमंत्री ‌पद से इस्तीफा नहीं देते तो दबाव बनाने के लिए माओवादी खेमे के मंत्री इस्तीफा भी दे सकते हैं। उधर ओली पार्टी की स्थाई समिति की इस्तीफे की मांग न मानकर संसदीय दल में बहुमत जुटाने का विकल्प चुन सकते हैं। इस बीच पार्टी में बगावत का बिगुल फूंकने वाले पूर्व प्रधानंमत्री प्रचंड ने भी बैठक बुलाई है। सूत्रों के मुताबिक, नए विवादत नक्शे पर भारत के साथ छिड़े विवाद पर नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली अपनी पार्टी में ही घिर गए हैं। 

ओली पर इस्तीफा का दबाव बढ़ा
कम्युनिस्ट पार्टी के नेताओं ने ओली पर इस्तीफा का दबाव बढ़ा दिया है। अपनी ही पार्टी में घिरे ओली ने गुरुवार को राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी से मुलाकात की।  इस बीच, खबर यह भी है कि आज पार्टी की बैठक में ओली नहीं पहुंचे। खबरों मुताबिक नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की स्टैंडिंग कमेटी के सदस्य लीलामणि पोखरेल ने कहा, 'आपने आरोप लगाया है कि भारत आपकी सरकार गिराने की साजिश रच रहा है। आप जिस पद पर हैं यह आरोप उस गरिमा के खिलाफ है। आपको या तो सबूत पेश करें या आपको इस्तीफा दे देना चाहिए।' स्टैंडिंग कमेटी की एर सदस्य मैत्रिका यादव ने कहा कि ओली को अपना पद तुरंत छोड़ देना चाहिए क्योंकि उन्होंने 'किसी पार्टी के नेता से ज्यादा एक गैंग लीडर की तरह काम किया है। 

यह खबर भी पढ़े: मप्र में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद सिंधिया ने कमलनाथ और दिग्विजय पर कसा तंज, कहा- टाइगर अभी जिंदा है

Recommended

Spotlight

Follow Us