59 ऐप्स पर बैन के बाद बौखलाया चीन, कहा- भारत ने चुनकर हटाए चीनी ऐप्स, भेदभाव भरा रवैया बदलने के लिए करेंगे अपील

Daily Hunt News 01-07-2020 07:35:52

नई दिल्ली। भारत सरकार के 59 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने के फैसले से भले ही उनके राजस्‍व पर बहुत ज्‍यादा असर न पड़े लेकिन इंटरनेट की दुनिया में राज करने की महत्‍वाकांक्षा रखने वाली इन कंपनियों को बड़ा झटका लगा है। भारत के इस फैसले के बाद चीन बौखलाया हुआ सा प्रतीत होता है। मंगलवार को चीनी दूतावास ने कहा कि हम भारत से अपील करेंगे कि वह अपना भेदभाव भरा व्यवहार बदले। वह चीन और भारत के बीच आर्थिक और व्यापारिक सहयोग की रफ्तार को बनाए रखे।

TikTok

चीन के दूतावास के प्रवक्ता जी रोन्ग ने कहा कि भारत सरकार के इस फैसले का चीन मजबूती से विरोध करेगा। भारत ने चुन-चुनकर चीनी ऐप्स को संदेह के आधार पर हटाया है। यह कदम साफ और निष्पक्ष प्रक्रिया के खिलाफ है। भारत का यह कदम अंतराष्ट्रीय व्यापार ट्रेंड और ई-कॉमर्स नियमों के भी खिलाफ है। 

China agrees due to ban of Tiktok in India used to earn billions from here

वही इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए टिक टॉक इंडिया ने कहा कि हम भारतीय कानून का पालन कर रहे हैं। टिक टॉक इंडिया के सीईओ निखिल गांधी ने बताया कि हम भारतीय कानून के तहत डेटा प्राइवेसी और सुरक्षा के सभी नियमों का पालन कर रहे हैं। हमने चीन समेत किसी भी विदेशी सरकार के साथ भारतीय यूजर्स की जानकारी शेयर नहीं की है। अगर भविष्य में भी हमसे अनुरोध किया जाता है तो हम ऐसा नहीं करेंगे। हम यूजर की निजता की अहमियत समझते हैं।

TikTok

निखिल गांधी ने कहा कि सरकार ने हमें जवाब देने और अपना पक्ष रखने के लिए आमंत्रित किया था। टिकटॉक 14 भाषाओं में उपलब्ध है। इससे लाखों ऑर्टिस्ट, कहानीकार, शिक्षक और परफॉर्मर्स जुड़े हैं। यह उनके जीने का जरिया बना। इनमें से कई ने पहली बार इंटरनेट का इस्तेमाल किया।  

TikTok

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, एपल के ऐप स्टोर और गूगल प्ले स्टोर से टिक टॉक ऐप को हटा दिया गया है। साथ ही खबर है कि चीन ने भी भारतीय समाचार चैनलों और मीडिया समूहों से जुड़ी सभी वेबसाइट्स बैन कर दी हैं। चीन में इन वेबसाइट्स को देखने के लिए या भारतीय लाइव टीवी देखने के लिए अब वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (वीपीएन) के जरिए ही एक्सेस किया जा सकता है। 

TikTok

हालांकि, बीते 2 दिनों से डेस्कटॉप और आईफोन पर वीपीएन भी ब्लॉक है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीजिंग सरकार के आदेश पर ही भारतीय न्यूज वेबसाइट्स पर पाबंदी लगाई गई है।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

यह खबर भी पढ़े: भारत में Tiktok बैन होने से सहमा चीन, यहां से करता था इतने अरबों में कमाई

यह खबर भी पढ़े: सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा TikTok: वायरल हो रहे ऐसे मीम्स, सेलेब्स ने दिए ये रिएक्शन

 

Recommended

Spotlight

Follow Us