मंत्री अर्जुन मुंडा ने ममता सरकार पर लगाया आरोप, अम्फन प्रभावित आदिवासियों के लिए नहीं भेजी योजना

Daily Hunt News 29-06-2020 20:36:53

कोलकाता। केंद्रीय जनजाति मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा ने पश्चिम बंगाल की ममता सरकार पर आरोप लगाया कि उसने अम्फन तूफान प्रभावित आदिवासियों के पुनर्वास के लिए केंद्र सरकार को कोई योजना नहीं भेजी। 

मुंडा सोमवार को पश्चिम बंगाल अनुसूचित जनजाति मोर्चा के तत्वावधान में आयोजित वर्चुअल रैली को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया, "मेरे मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार को सुंदरवन के जनजातीय इलाकों में अम्फन तूफान से प्रभावित आदिवासी जनसंख्या के पुनरुद्धार के लिए तत्काल प्रोजेक्ट भेजने का आग्रह किया था, लेकिन पश्चिम बंगाल ने कोई योजना नहीं भेजी। 

केंद्र सरकार पश्चिम बंगाल के आदिवासी और जनजातियों के विकास के लिए पैसे देने के लिए राजी है, लेकिन बंगाल सरकार कोई योजना ही नहीं भेज रही है। इससे बंगाल का जनजाति समाज केंद्र की कल्याणकारी योजनाओं से वंचित हो रहा है। पश्चिम बंगाल की सरकार जनहित में काम नहीं कर रही है। जनजाति समाज एकजुट होकर एक आंदोलन कर बंगाल में अच्छे काम करें। 

उन्होंने कहा कि एकलव्य मॉडल स्कूल के माध्यम से पढ़ने-लिखने का काम जनजाति समाज में होगा। सोशल मीडिया से जनजाति समाज के युक्त कर किया जा रहा है, ताकि वे मुख्य धारा से जुड़ सकें। उन्होंने कहा, "कोविड-19 ने चुनौती पैदा किया है तथा अवसर भी पैदा किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व केंद्रीय गृह मंत्री की दृढ़ इच्छा शक्ति के कारण धारा 370 हटा और डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी के एक देश, एक विधान और एक प्रधान का सपना पूरा हुआ। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने समस्या को बनाये रखने की सदा कोशिश की, लेकिन मोदी सरकार ने समस्या का समाधान किया। मुस्लिम बहनों के लिए तीन तालाक नियम बना कर न्याय दिया। नागरिकता संशोधन कानून के माध्यम से ऐसे लोगों को नागरिकता दी गयी, जो कई वर्षों से शरणार्थी के रूप में रह रहे थे। राम मंदिर बनने का मार्ग सशक्त हुआ। भूमि पूजन के बाद कार्य प्रारंभ हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए कई योजनाओं की घोषणा की है। इससे जनजाति समाज को लाभ मिलेगा। 

पश्चिम बंगाल अनुसूचित जनजाति मोर्चा मोर्चा के अध्यक्ष खगेन मुर्मु ने कहा कि आदिवासियों की अवहेलना के खिलाफ एकजुट होना होगा तथा प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी की आत्मनिर्भर योजना का लाभ आदिवासियों तक पहुंचाना होगा। इस अवसर पर भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, केंद्रीय अनुसूचित जनजाति राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविचार नेताम, सांसद ज्योतिर्मय सिंह, सांसद कुणार हेमब्रम, सांसद डॉ सुभाष सरकार, सांसद ज्योतिर्मय महतो व विधायक मनोज टिग्गा आदि उपस्थित थे।

यह खबर भी पढ़े: सोनिया गांधी ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर सरकार पर बोला हमला, कहा- मुनाफाखोरी न करें

यह खबर भी पढ़े: महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए 31 जुलाई तक जारी रहेगा लॉकडाउन

Recommended

Spotlight

Follow Us