सोनिया गांधी ने लगाया आरोप, कहा- सरकार पेट्रोल- डीजल पर 12 बार एक्साइज़ ड्यूटी बढ़ाकर वसूली 18 लाख करोड़!

Daily Hunt News 29-06-2020 20:09:28

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को लेकर सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि पेट्रोल-डीजल के बढ़े हुए दाम वापस लिए जाएं। उन्होंने कहा कि यह मुसीबत का वक्त है, ऐसे में सरकार मुनाफाखोरी न करें।

सोनिया गांधी ने सोमवार को ट्विटर पर एक वीडियो जारी कर कहा कि 'सरकार की जिम्मेदारी यह है कि वह मुश्किल समय में देशवासियों का सहारा बने। पिछले तीन महीनों में मोदी सरकार ने 22 बार पेट्रोल/डीजल की कीमत में बढ़ोतरी की है। वर्ष 2014 के बाद मोदी सरकार ने जनता को कच्चे तेल की गिरती कीमतों का फायदा देने की जगह पेट्रोल/डीजल पर 12 बार एक्साइज़ ड्यूटी बढ़ाकर 18 लाख करोड़ रुपये की अतिरिक्त वसूली की है।’ उन्होंने कहा कि जनता पर टैक्स (कर) का भार बढ़ाकर सरकारी खजाना भरना किसी भी तरीके से सही नहीं ठहराया जा सकता।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि एक तरफ देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है, ऐसे में पेट्रोल-डीजल पर एक्साइड ड्यूटी बढ़ाना लोगों को परेशान ही कर रहा है। इस मूल्य वृद्धि से सबसे ज्यादा असर किसान, नौकरीपेशा लोगों, मध्यमवर्ग और छोटे उद्यमियों पर पड़ा है। इसी लिए कांग्रेस पार्टी सरकार से मांग करती है कि पेट्रोल-डीजल की बढ़ाई गई कीमत को वापस लिया जाए। साथ ही मार्च माह से बढ़ाई गई एक्साइज़ ड्यूटी को भी वापस लिया जाए।

वहीं, वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कच्चे तेल की कीमतों में वृद्धि को जनता के प्रति सफेद लूट की संज्ञा दी है। उन्होंने कहा कि मूल्य वृद्धि का फैसला सरकार की असंवेदशीलता को दर्शाता है क्योंकि जनता पहले से ही जीएसटी और नोटबंदी को झेलने के बाद अब कोरोना व लॉकडाउन की मार सह रही है। ऐसे में सरकार को लोगों की तकलीफ बांटने के बजाय उनकी समस्याओं को बढ़ाने में लगी है।

यह खबर भी पढ़े: सुशांत सिंह राजपूत की याद में भूमि पेडनेकर करेगी ऐसा नेक काम, सोशल मीडिया पर की घोषणा

Recommended

Spotlight

Follow Us