खाली स्टेडियम में खेलने के लिए खिलाड़ियों को मानसिक रूप से तैयार करें खेल मनोवैज्ञानिक : ब्रॉड

Daily Hunt News 29-06-2020 15:02:41

लंदन। इंग्लैंड के अनुभवी तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने इंग्लैंड टीम के खेल मनोवैज्ञानिकों से अपील की है कि वे खाली स्टेडियम में खेलने के लिए खिलाड़ियों को मानसिक रूप से तैयार करें। जिससे वे नए माहौल मेंअच्छा प्रदर्शन कर सकें। 

कोरोना लॉकडाउन के बाद इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच आठ जुलाई से शुरू हो रही तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला के जरिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की फिर से वापसी हो रही है। ये मैच जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में खेले जाएंगे और मैदान पर दर्शक नहीं होंगे। 

ब्रॉड ने एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में कहा, "ये मैच अलग होंगे क्योंकि दर्शक ही नहीं होंगे। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मानसिक रूप से कठिन चुनौती होगा और हर खिलाड़ी को उसके लिए पूरी तरह से तैयार रहना होगा।" 

उन्होंने कहा,"मैंने अपने खेल मनोवैज्ञानिकों से बात की है कि वे मानसिक रूप से इस तरह से ढालने में मदद करें कि हम नए माहौल में भी अच्छा प्रदर्शन कर सकें।" 

ब्रॉड ने कहा, ‘‘अगर आप मेरे सामने एशेज मैच और सत्र से पहले का दोस्ताना मैच रखें तो मुझे पता है कि मेरा प्रदर्शन किसमें बेहतर होगा। मुझे यह तय करना होगा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में जज्बात पर नियंत्रण रखना है और इस पर हम इस महीने की शुरूआत से ही काम कर रहे हैं।’’ दोनों टीमों के बीच पहला टेस्ट मैच 8 जुलाई से खेला जाएगा।

ह खबर भी पढ़े: पपीते के बीज होते है सेहत के लिए बेहद फायदेमंद, लेकिन ये लोग भूलकर भी न करें सेवन

यह खबर भी पढ़े: भारी भरकम बिजली बिल को देख तापसी पन्नू को लगा बड़ा झटका, सोशल मीडिया पर निकाली भड़ास

Recommended

Spotlight

Follow Us