खतरनाक हो सकती हैं पैर क्रॉस करके बैठने की आदत, स्वास्थ्य को होते हैं यह नुकसान

Daily Hunt News 22-05-2020 14:19:26

डेस्क। जब बात बॉडी लैंग्वेज और स्टाइलिंग की आती है तो पैर क्रॉस करके बैठना कॉन्फिडेंट होने का सिंबल माना जाता है। बैठने के इस तरीके में हम सभी बहुत सहज महसूस करते हैं। लेकिन यह सहजता हमारे शरीर को बहुत अधिक नुकसान पहुंचा सकती है क्योंकि हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि लंबे समय तक एक के ऊपर एक पैर रखकर बैठने से ब्लड प्रेशर और वेरिकॉज वेन्स जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

Cross legs

पैर क्रॉस करके बैठने के नुकसान 

ब्लड सर्कुलेशन पर असर: क्रॉस लेग बैठने से न सिर्फ ब्लड प्रेशर बल्कि व्यक्ति का ब्लड सर्कुलेशन भी गड़बड़ा जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आप जब एक पैर के ऊपर दूसरा पैर रखकर बैठते हैं तो दोनों पैरों में ब्‍लड सर्कुलेशन एक समान नहीं हो पाता है। इस कारण पैरों में सुन्नता या झंझनाहट की समस्या होने लगती है।

Cross legs

पेल्विक इंबैलंस: इस पॉजिशन में बैठने से हमारी पेल्विक मसल्स इंबैलंस हो सकती हैं। क्योंक हर दिन कई-कई घंटे इस स्थिति में बैठने पर हमारी थाइज में खिंचाव, सूजन, सुन्नता या दुखन की समस्या हो सकती है।

जल्द हो जाएंगे बूढे: अगर आप जल्दी बूढ़े नहीं दिखना चाहते हैं तो क्रॉस पैर करके बैठना भूल जाइए। एक टांग पर दूसरी टांग रख कर बैठने पर जांघों की मसल्य भी प्रभावित होती हैं, जिससे ज्वॉइंटस में परेशानी आ सकती है। यही नहीं, इससे कूल्हों और कमर में भी परेशानी हो सकती है।

Cross legs

बीपी पर असर: कई हेल्थ स्टडीज में यह बात सामने आ चुकी है के एक के ऊपर एक पैर रखकर बैठने से हमारी नर्व्स पर दबाव पड़ता है, इस कारण हमारा ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है इसलिए बीपी के मरीजों को इस पोजिशन में बैठने से बचना चाहिए। 

Cross legs

जॉइंट्स में दिक्कत: एक ही जगह पर और खासतौर पर ऑफिस में कुर्सी पर 8 से 9 घंटे रोज क्रॉस लेग करके बैठने से पैरों के जॉइंट पेन की समस्या हो सकती है। कई बार हम समझ नहीं पाते हैं कि वॉक, एक्सर्साइज और योग करने के बाद भी हमारे जॉइंट्स में दर्द क्यों हो रहा है। तो इस दर्द की वजह कुछ और नहीं बल्कि हमारा क्रॉस लेग पॉश्चर होता है।

Cross legs

लकवा से बचने के लिए: पैर क्रॉस करके ना बैठने की एक दूसरी वजह यह भी बताई जाता है कि इस मुद्रा में लंबे समय तक बैठने पर पॉल्सी या पेरोनियल नर्व पैरालिसिस की समस्या हो सकती है। अगर कोई व्यक्ति हर रोज कई घंटे इस स्थिति में बैठता है तो उसकी नर्व्स डैमेज हो सकती हैं।

Cross legs

बैठते वक्त रखें इन बातों का ध्यान: ऑफिस में सिटिंग जॉब है तो जाहिर तौर पर आपको बैठना ही पड़ेगा लेकिन अगर आप सेहत से जुड़ी हर तरह की समस्या से बचना चाहते हैं तो बीच-बीच में सीट से ब्रेक लेते रहें। कम से कम हर 45 मिनट बाद 5 मिनट का ब्रेक जरूर लें।

यह खबर भी पढ़े: शरीर से आने वाली आवाजों को न करें नजरअंदाज, हो सकता है किसी गंभीर का लक्षण

Recommended

Spotlight

Follow Us