बिहार/ लॉकडाउन के दौरान ससुराल में फंसे दामाद की हत्या, पत्नी समेत चार गिरफ्तार, खाने में खिचड़ी मांगने पर हुआ था विवाद

Daily Hunt News 22-05-2020 11:06:55

मुंगेर। मुंगेर के बरियारपुर थाना क्षेत्र के बस्ती उतरी टोला में ससुराल आए यूपी निवासी बहनोई को घरेलू विवाद में दो भाइयों ने बहन और माँ संग मिलकर जिंदा जलाकर मार डाला और शव को कल्याण टोला गंगा ढ़ाव किनारे बालू के नीचे दफना दिया। पुलिस ने मृतक के स्वजनों के आवेदन के आधार पर शव को ढ़ाव किनारे बालू के अंदर से बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए मुंगेर भेज दिया। 

घटना का कारण आपसी विवाद बताया जा रहा है। मृतक उत्तर प्रदेश के बांदा जिला के बिसंडा थाना के गेरांव गांव निवासी 35 वर्षीय रामकिशोर है। इस संबंध में मृतक के भाई रामधनी रजक के आवेदन पर बरियारपुर थाना में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार का लिया है। 

मृतक की पहचान यूपी के बांदा जिले के बिसंडा थाना क्षेत्र के गंराव ग्राम निवासी मेडालाल के 35 वर्षीय पुत्र रामकिशोर के रूप में हुई। रामकिशोर की शादी डेढ़ साल पूर्व बरियारपुर बस्ती के उत्तर टोला निवासी स्व. त्रिवेणी तांती की बेटी अल्का से हुई थी।

होली में आया था ससुराल
मिली जानकारी के अनुसार रामकिशोर 17 मार्च को ससुराल आया था। लॉकडाउन के कारण दो माह से वह ससुराल में ही फंसा था। इसी क्रम में 17 मई को पत्नी, साला एवं सास ने मिलकर उसकी हत्या कर दी और शव को जलाने के लिए कल्याण टोला गंगा ढाब ले गए। वहां अधजले शव को गंगा के बालू में दफन कर दिया।

मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस ने चार नामजद को गिरफ्तार कर लिया है। लॉकडाउन के कारण वह घर वापस नहीं आ सका। 17 मई को मामा के ससुराल वालों ने सूचना दी कि रामकिशोर एवं अलका उत्तर प्रदेश के लिए निकल गए हैं। मृतक के स्वजनों द्वारा सूचना मिलने के तुरंत बाद बरियारपुर बस्ती निवासी सुरजीत एवं साकेत को पकड़ कर पूछताछ की गई। 

पूछताछ के दौरान दोनों ने उस जगह के बारे में जानकारी दी, जहां शव को दफनाया गया था। पूछताछ में मिली जानकारी के आधार पर शव को जमीन के अंदर से निकाला गया। इस घटना में मृतक की सास ललिता देवी, पत्नी अलका, साला सुरजीत एवं साकेत को गिरफ्तार किया गया है।

भोजन को लेकर हुआ था विवाद
वीरेंद्र ने यह भी बताया कि मेरे मामा की सास ने बरियारपुर से हम लोगों को अलग से सूचना दी है कि तुम्हारे मामा की हत्या कर दी गई है। हत्या का कारण बताते हुए उन्होंने कहा कि रामकिशोर की तबीयत खराब हो गई थी। मृतक ने खाने में खिचड़ी की मांग की। इसी बात को लेकर ससुराल वालों से कहा-सूनी हुई थी। इसके बाद रामकिशोर की सास ललिता देवी, पत्नी अलका, साला सागर सुरजीत तथा अमितेश ने आग लगा कर उसकी हत्या कर दी। 

यह खबर भी पढ़े: Lockdown 4.0 के बीच बड़ी राहत/राजस्थान में कल से फिर सड़कों पर दौड़ेगी रोडवेज की बसें, ऑनलाइन मिलेंगे टिकट

यह खबर भी पढ़े: COVID-19/स्वास्थ्य मंत्रालय का बड़ा बयान, कहा- बिना लक्षण वाले मरीज नहीं फैला सकते हैं Corona संक्रमण

Recommended

Spotlight

Follow Us