परिजनों के विरोध के चलते प्रेमी युगल ने लगाई फांसी, गांव में मचा हड़कंप

Daily Hunt News 06-04-2020 13:26:15

फतेहपुर। जिले में रविवार को परिजनों के विरोध के चलते दुखी प्रेमी युगल ने फांसी लगाकर जान दे दी है। घटना की खबर से गांव में हड़कंप मच गया। दोनों परिवार शोक में डूब गये। सूचना पर घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने पेड़ से दोनों शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। और घटना की जांंच शुरू कर दी है। 

जानकारी के अनुसार मलवां थाना क्षेत्र के तारापुर असवार गांव में परिजनों के विरोध और शादी के इंकार से दुखी प्रेमु युगल ने आज सुबह जंगल में आपस में मिले और शादी में आ रही बाधाओं के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या का आत्मघाती निर्णय लेते हुए दुपट्टे से फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। 

मृतक प्रेमी के मामा मोती सिंह ने बताया कि मेरा भांजा इन्द्रसिंह पुत्र सोहराज सिंह असोथर थाना के लखनहा गांव का निवासी है। वह मेरे घर में रहकर आटीआई की पढ़ाई करता था। मेरे गांव के शेरा सिंह की पुत्री कु. पूजा सिंह से उसे प्यार हो गया। लोगों ने बताया कि वह दोनों अक्सर मिलते थे। और शादी करना चाहते थे। लेकिन हम लोगों से उन दोनों ने कभी अपनी शादी की मंशा नहीं बताई।

हम लोग सिर्फ मिलने जुलने की गलत बताते हुए यह करने को मना किया था। यदि दोनों शादी की बात बताते तो एक ही विरादरी के कारण हमें कोई इतराज नहीं होता। लेकिन लोकलाज के चलते ही हम लोगों ने मना किया था। यदि यह मालूम होता कि दोनों इस हद तक जा सकते तो शादी कर देते। अफसोस की बात यह कि दोनों ने अपनी बात खुलकर परिजनों से नहीं बताई और आज इतना बड़ा कदम उठा लिया है।

मौके पर पहुंचे थानाध्यक्ष शेरसिंह राजपूत ने बताया कि दोनों परिजनों की तरफ से कोई आरोप नहीं लगाया गया है। दोनों शवों का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और जांच की जा रही है। पोस्टमार्टम आने के बाद उसी के अनुसार अग्रिम जांच कर कार्रवाई की जायेगी। 

यह खबर भी पढ़े: राजस्थान में कोरोना से तीसरी मौत, संक्रमितों की संख्या बढ़कर हुई 274

यह खबर भी पढ़े: ममता सरकार ने डॉक्टरों से छीना मृत्यु प्रमाण पत्र पर हस्ताक्षर का अधिकार : भाजपा

Recommended

Spotlight

Follow Us