जामिया पहुंची राष्ट्रीय मानवाधिकार टीम, छात्र बोले- पुलिस ने लाइब्रेरी में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं को बेरमहमी से पीटा

Daily Hunt News 14-01-2020 16:56:49

नई दिल्ली। जामिया मिल्लिया इस्लामिया में पिछले दिनों छात्रों पर हुई बर्बर कार्रवाई को देखते हुए राष्ट्रीय मानवाधिकार (एनएचआरसी) की टीम ने आज दूसरी बार विश्वविद्यालय का दौरा किया और वहां अधिकारियोें और विद्यार्थियों के साथ बातचीत की। आधिकारिक सूत्रों ने बताया पुलिस उपाधीक्षक स्तर के एक अधिकारी के नेतृत्व में आयोग की टीम विश्वविद्यालय आयी और उन्होंने करीब 35 विद्यार्थियों से पूछताछ की और उनके बयान लिखित तथा मौखिक तौर पर दर्ज किये। 

यह खबर भी पढ़ें: ड़ी खबर: रोहित और मंधाना बने साल के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर, गांगुली ने भारतीय टेस्ट टीम को अवार्ड प्रदान किया

आयोग के सदस्यों ने विश्वविद्यालय के शिक्षकों और अधिकारियोें से भी पूछताछ की और 15 दिसंबर को हुई पुलिस कार्रवाई के बारे में जानकारी हासिल की। आयोग की टीम के समक्ष छात्रों ने 15 दिसंबर की रात की घटना के बारे में विस्तार विरणा रखा। छात्रों ने आयोग की टीम के समक्ष कहा कि पुलिस ने लाइब्रेरी में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं को बेरमहमी से पीटा।

यह खबर भी पढ़ें: तुर्की ने 176 सैन्यकर्मियों की गिरफ्तारी का दिया आदेश, जानिए क्यों?

इससे पहले 20 दिसंबर को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मंजिल सैनी के नेतृत्व में मानवाधिकार आयोग की सात सदस्यीय टीम ने विश्वविद्यालय का दौरा किया था। गौरतलब है कि नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन के बाद जामिया परिसर में घुसकर पुलिस ने लाइब्रेरी में तोड़फोड़ की थी तथा विद्यार्थियों के साथ मारपीट की थी। पुलिस की इस बर्बर कार्रवाई और नागरिकता (संशोधन) कानून के खिलाफ पिछले एक महीने से अधिक समय से विश्वविद्यालय परिसर के बाहर निरंतर आदोलन जारी है।

 

Recommended

Spotlight

Follow Us