इस भारतीय ओपनर का रणजी ट्रॉफी में धमाका, दोहरा शतक के बाद....

Daily Hunt News 12-12-2019 01:07:00

नई दिल्ली। भारतीय टीम के लिए अपने डेब्यू टेस्ट में ही शतक जड़ने वाले युवा ओपनर पृथ्वी शॉ के लिए ये घरेलू सत्र बेहद शानदार साबित हुआ है। भारतीय टीम के लिए ओपनिंग कर चुके पृथ्वी शॉ ने मुंबई की टीम के लिए रणजी ट्रॉफी में तूफानी दोहरा शतक जड़ा है। वडोदरा के रिलायंस स्टेडियम में बड़ौदा और मुंबई के बीच रणजी ट्रॉफी का मैच में अपने प्रदर्शन से चयनकर्ताओं को संदेश दे दिया है। जिसमें पृथ्वी शॉ ने अपने फर्स्ट क्लास करियर का पहला दोहरा शतक जड़ा है।

यह भी पढ़े: विरूष्का कपल ने एक-दूसरे को शादी की सालगिरह पर अलग अंदाज में दी बधाई, देखें पूरा...

दरअसल, भारतीय टीम के लिए ओपनिंग कर चुके पृथ्वी शॉ ने मुंबई की टीम के लिए रणजी ट्रॉफी में तूफानी दोहरा शतक जड़ा है। दाएं हाथ के बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने महज 175 गेंदों में अपना दोहरा शतक पूरा किया। हालांकि, इस पारी में कुछ ही रन जोड़ने के बाद वे आउट हो गए। उन्होंने 179 गेंदों पर 19 चौके और 7 छक्कों की मदद से 202 रन की पारी खेली। इस पारी में पृथ्वी शॉ का स्ट्राइकरेट 112.85 का रहा है। उन्होंने बड़ाैदा के खिलाफ मुंबई के मुकाबले के तीसरे ही दिन जीत के करीब पहुंचा दिया है। 

The young batsman believes in this veteran of his life in Earth Shaw Test cricket

इस मैच में जहां शॉ ने पहली पारी में बेहतरीन अर्धशतक लगाया, वहीं दूसरी पारी तो विस्फोटक दोहरा शतक जड़ डाला, प्रथम श्रेणी क्रिकेट में ये उनका सर्वोच्च स्कोर है। पृथ्वी शॉ ने पहली पारी में 62 गेंदों पर 12 चौके और 1 छक्के की मदद से 66 रन बनाए थे। पहली पारी में भी पृथ्वी शॉ का स्ट्राइकरेट 100 से ज्यादा का रहा था। मैच के तीसरे दिन टी ब्रेक तक पृथ्वी शॉ के दोहरे शतक के दम पर मुंबई की टीम ने 332 रन 4 विकेट खोकर बना लिए हैं। इस तरह मेहमान टीम के पास 456 रनों की बढ़त हासिल हो गई है। 

parthvi

माना जा रहा है कि मुंबई की टीम के कप्तान सूर्य कुमार यादव जल्द पारी की घोषणा कर सकते हैं। आपको बता दें, अक्टूबर 2018 में पृथ्वी शॉ ने भारतीय टीम के लिए टेस्ट डेब्यू किया था। 20 वर्षीय पृथ्वी शॉ ने पहली दोनों पारियों में साबित कर दिया था कि वे लंबे चलने वाले क्रिकेटर हैं। हालांकि, इसके बाद पृथ्वी शॉ पर BCCI ने बैन लगा दिया था, क्योंकि उन्होंने कफ सीरप पी थी, जो प्रतिबंधित थी। लेकिन एक बार फिर से पृथ्वी शॉ ने भारतीय टीम में अपनी दावेदारी पेश कर दी है। 

Recommended

Spotlight

Follow Us