बड़ा खुलासा: डेविड वॉर्नर की ट्रिपल सेंचुरी के पीछे है पूर्व भारतीय क्रिकेटर का हाथ

Daily Hunt News 03-12-2019 04:06:00

डेस्क। पाकिस्तान के खिलाफ खेली जा रही टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के ओपनर डेविड वार्नर ने लाजवाब पारी खेलकर टीम को पहाड़ जैसे स्कोर तक पहुंचाया। वार्नर ने अपना शानदार तिहरा शतक जमाया। इस बड़े रिकॉर्ड के बाद डेविड वॉर्नर ने इसके पीछे पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज और दिग्गज वीरेंद्र सहवाग का अहम् हाथ बताया।  

यह खबर भी पढ़े: रोमांचक मुकाबले में तमिलनाडु को पीटकर कर्नाटक बना मुश्ताक अली चैंपियन, मनीष पांडेय ने ठोका नाबाद...

प्रेस कॉफ्रेंस में वॉर्नर ने कहा, 'आईपीएल के दौरान मैं वीरेंद्र सहवाग से मिला, उन्होंने कहा कि मैं टी20 से अच्छा टेस्ट बल्लेबाज बनूंगा। मैंने उनसे कहा कि आपको पता है आप क्या कह रहे हैं, मैंने तो ज्यादा फर्स्ट क्लास मैच भी नहीं खेले। तब उन्होंने मुझे बताया कि स्लिप, गली, कवर्स ओपन रहते हुए मैं बड़ा शॉट खेल सकता हूं और टिका रह सकता हूं। उनसे बात करते हुए मुझे यह सब बहुत आसान लग रहा था। उनकी यह बात हमेशा मेरे दिमाग में रही।'

डेविड वॉर्नर

हालाँकि वॉर्नर पारी घोषित होने की वजह से ब्रायन लारा का 400 रन पर करने का रिकॉर्ड तोड़ने से चूक गए लेकिन उनका मानना है कि 400 रन के आंकड़े को पार करना संभव है और उन्होंने कहा कि रोहित शर्मा निकट भविष्य में यह उपलब्धि हासिल कर सकते हैं। वॉर्नर ने कहा, "मैंने अंतिम क्षणों में उठाकर कुछ शॉट्स लगाने की कोशिश की क्योंकि मैं समझ रहा था कि मैं सीमा रेखा को चौके से अब पार नहीं कर सकता। मैं समझता हूं कि एक दिन मेरी नजर में एक खिलाड़ी इस रिकार्ड को तोड़ सकता है और वह खिलाड़ी हैं, रोहित शर्मा।"

यह खबर भी पढ़े: गांगुली ने किया खुलासा, सैयद मुश्ताक T20 ट्रॉफी में सट्टेबाज ने एक खिलाड़ी से किया संपर्क

बता दें कि वॉर्नर ने एडीलेड टेस्‍ट में नाबाद 335 रन की पारी खेली और डोनाल्‍ड ब्रैडमैन और मार्क टेलर के 334 रन की पारी के रिकॉर्ड को तोड़ा। इस दौरान वार्नर ने महज 389 गेंद में अपना तिहरा शतक पूरा किया। आपको याद दिला दें कि भारतीय ओपनर सहवाग ने भी 2004 में मुल्तान में पाकिस्तान के खिलाफ 375 गेंदों में 39 चौके और 6 छक्के लगाते हुए 309 रन की पारी खेली और टेस्ट में तिहरा शतक लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज बने थे।

डेविड वॉर्नर

वॉर्नर की पारी के दम पर ऑस्‍ट्रेलिया ने पहली पारी तीन विकेट पर 589 रन बनाकर घोषित की। वार्नर ने 519 मिनट में 389 गेंदों का सामना किया, जिसमें उन्होंने 37 चौकों की मदद से 300 रन बनाए। इससे पहले टेस्ट क्रिकेट में वॉर्नर का सर्वोच्च स्कोर 253 रन था। 

Recommended

Spotlight

Follow Us