गुटखा, पान मसाला और बीड़ी पर भी लगे रोक

Daily Hunt News 02-12-2019 17:38:04

नई दिल्ली। राज्यसभा में ई. सिगरेट पर प्रतिबंध लगाने का समर्थन करते हुए सोमवार को कहा गया कि सरकार को बीड़ी, पान मसाला और गुटका समेत तंबाकू के सभी उत्पादों पर राेक लगानी चाहिए। सदन में ‘इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट (उत्पादन, विनिर्माण, आयात, निर्यात, परिवहन, विक्रय, वितरण, भंडारण एवं विज्ञापन) प्रतिबंध विधेयक 2019 की चर्चा में भाग लेते हुए सदस्यों ने कहा कि सरकार को तंबाकू के समस्त उत्पादों पर प्रतिबंध लगाने के बारे में भी सोचना चाहिए। यह विधेयक गुरुवार को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन ने राज्यसभा में पेश किया था।

यह खबर भी पढ़ें:​ ब्लैक शाॅर्ट्स में आमिर की लाडली ने शेयर की हाॅट तस्वीरें, बैंच पर लेट यूं दिए पोज

तृणमूल कांग्रेस के नदीमुल हक ने कहा कि सरकार को न केवल ई. सिगरेट पर बल्कि पान मसाला, गुटका, बीडी और तंबाकू के समस्त उत्पादों पर प्रतिबंध लगना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार को ई. सिगरेट पर प्रतिबंध लगाने के लिए अध्यादेश नहीं लाना चाहिए था। इससे संसद की गरिमा घटती है।

अन्नाद्रमुक की विजिला सत्यानाथन ने विधेयक का समर्थन करते हुए कहा कि सरकार को सभी प्रकार की सिगरेट पर प्रतिबंध लगाने के बारे में विचार करना चाहिए। एकल सिगरेट की बिक्री पर रोक लगानी चाहिए। इससे युवा सिगरेट की ओर आकर्षित होते हैं। उन्होेंने कहा कि बीडी, पान मसाला और गुटका समेत सारे तंबाकू उत्पादों पर रोक लगानी चाहिए। बीडी मजदूरों के लिए अन्य रोजगार की व्यवस्था होनी चाहिए।

Recommended

Spotlight

Follow Us