अगर आप भी है पायरिया से परेशान तो अपनाएं ये प्राकृतिक तरीकें

Daily Hunt News 15-11-2019 14:01:00

डेस्क। अक्सर देखा जाता है कि लोग बेहद जल्दी में ब्रश करते हैं और जब आप दांतों की सही तरह से सफाई नहीं करते तो मुंह में बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। बाद में यही बैक्टीरिया पायरिया रोग का कारण बनता है। पायरिया की बिमारी में मसूड़ों में खून, जलन और दर्द होने के कारण भोजन खाने में असमर्थता होती हैं। इससे जल्द छुटकारा नहीं पाया गया तो यह और भी बड़ी परेशानी बन सकता हैं। इसलिए आज हम आपके लिए कुछ ऐसे प्राकृतिक उपचार लेकर आए है जिनकी मदद से आपको पायरिया से मुक्ति मिल सकती है। तो आइये जानते है इन उपायों के बारे में।

 ये खबर भी पढ़े: अगर आप भी पीते हैं थेर्मोकोल या डिस्पोजल में चाय तो जरा समल जाइये वरना हो सकते हैं इस बीमारी का शिकार...

lifestyle

नींबू का इस्तेमाल: अगर आपके मसूड़ों से खून आता है या फिर दांतों में कमजोरी है तो आप नींबू का इस्तेमाल करें। इसके लिए आप नींबू का रस निकालकर उसे अपने मसूड़ों पर लगाएं। कुछ ही दिनों में आपको फर्क नजर आएगा।
 
कच्चे अमरुद: अमरूद न सिर्फ औषधीय गुणों से युक्त होता है, बल्कि यह आपकी बहुत सी परेशानियों को भी दूर करने में मदद करता है। अमरुद विटामिन सी का बहुत अच्छा स्रोत होने के कारण दांतों के लिए बहुत लाभकारी होता है। समस्या होने पर कच्चे अमरुद पर थोडा सा नमक लगाकर खाने से भी पायरिया के उपचार में सहायता मिलती है।

lifestyle

सरसों का तेल और सेंधा नमक: यह पायरिया के उपचार के लिए एक बहुत ही प्रचलित औषधि है। सरसों के तेल में सेंधा नमक मिलाकर दांतों पर लगाने से दांतों से निकलती हुई दुर्गन्ध और रक्त बंद होकर दांत मजबूत होते हैं और पायरिया जड़ से निकल जाता है।

 नीम की पत्तियां:  नीम के औषधीय गुणों से हर कोई वाकिफ है। पुराने समय में लोग नीम की दातून का इस्तेमाल करते थे, जिसके कारण उनके दांत काफी मजबूत होते थे। नीम के पत्तों की राख में कोयले का चूरा और कपूर मिलाकर रोज रात को लगाकर सोने से पायरिया में लाभ होता है। इसके अलावा यह पाउडर मसूड़ों से रक्तस्राव और पस के निर्माण पर नियंत्रण रखता है, और मुंह से दुर्गन्ध हटाने में भी सहायता करता है। आप अपने दांतों में नीम के दातुन से ब्रश भी कर सकते हैं।

lifestyle

अरंडी का तेल: 200 मिलीलीटर अरंडी का तेल, 5 ग्राम कपूर, और 100 मिलीलीटर शहद को अच्छी तरह मिला दें, और इस मिश्रण को एक कटोरी में रखकर उसमे नीम के दातुन को डूबोकर दांतों पर मलें और ऐसा कई दिनों तक करें। यह भी पायरिया को दूर करने के लिए एक उत्तम उपचार माना जाता है।

Recommended

Spotlight

Follow Us