गोवा में लौट चुका फुटबाल का जूनून

Daily Hunt News 13-10-2019 16:09:17

पणजी। एक समय ऐसा था, जब चार क्लब गोवा फुटबाल का पर्याय बन चुके थे। बिग फोर नाम से मशहूर डेम्पो स्पोटर्स क्लब, सालगांवकर स्पोटर्स क्लब, चर्चिल ब्रदर्स एफसी और स्पोर्टिंग क्लब डी गोवा कोलकाता के तीन दिग्गज क्लबों से भी अधिक ताकतवर माने जाने लगे थे और भारतीय फुटबाल में इनका नाम काफी सम्मान से लिया जाता था। इनमें से तीन ने कई बार कई खिताब जीते। स्पोर्टिंग क्लब डी गोवा दो मौकों पर इसके करीब पहुंचा लेकिन अंतिम बाधा नहीं पार कर सका।

यह खबर भी पढ़ें:​ रान और सऊदी के बीच मध्यस्थ की भूमिका में हाेंगे इमरान

अब गोवा में फुटबाल की सूरत बदल गई है। एक समय एसा था जब गोअन फुटबाल ने भारत के टाप डिवीजन लीग में दबदबा बनाया था लेकिन एक समय ऐसा भी आया जब गोवा में फुटबाल लगभग लुप्त हो गया था। अब हीरो आईएसएल क्लब एफसी गोवा के माध्यम से इस क्षेत्र में फुटबाल के चर्चे फिर से सुने जा सकते हैं।

बीते साल में गौर्स नाम से मशहूर यह क्लब हर एक गोवावासी की जुबान पर है। एफसी गोवा ने इस क्षेत्र में फुटबाल के क्षेत्र में काफी अंदर तक अपनी पहुंच बनाई है। यह क्लब इस क्षेत्र में फुटबाल के विकास के लिए लम्बी अवधि के ग्रासरूट प्रोग्राम चला रहा है।

इससे एफसी गोवा को आईएसएल में लगातार अच्छा प्रदर्शन करने का बल मिला है। पांच में से सिर्फ एक बार ही ऐसा हुआ है कि यह क्लब शीर्ष-4 में जगह नहीं बना सका। बीते दो सालों में सर्गियो लोबेरा की देखरेख में गोवा ने भारतीय फुटबाल में अटैकिंग फुटबाल के रूप में स्पेनिश शैली की छौंक लगाई है।

एफसी गोवा के अध्यक्ष अक्षय टंडन ने कहा, “मुझे लगता है कि हम पूरी कम्यूनिटी को रीप्रेजेंट करते हैं। यह कारण है कि हम इस ताने-बाने का हिस्सा बन गए हैं। हम अपने फैन्स को जोड़े बगैर कोई काम नहीं करते। वे हमेशा हमसे जुड़ी मार्केटिंग एवं सीजन टिकट गतिविधयों का हिस्सा होते हैं। मुझे लगता है कि हम आईएसएल का एकमात्र ऐसा क्लब हैं, 1000 सीजन टिकट होल्डर्स को पार कर चुके हैं और इस सीजन में हम 1500 टिकट होल्डर्स को भी पार कर जाएंगे।”

सीनियर टीम के अलावा इस क्लब ने यूथ अकादमी और एज-कटेगरी टीमों का एक शानदार पिरामिड खड़ा किया है। खास बात यह है कि ये टीमों अपने सीनियर टीमों से जुड़ी रही हैं। एफसी गोवा की डेवलपमेंटल टीम ने 2018-19 में गोवा प्रो लीग जीता।

इसके अलावा एफसी गोवा के पास यू-14, यू-16, यू-18 और यू-20 टीमें हैं। इन टीमों में शामिल खिलाड़ियों का मकसद सीनियर टीम के लिए खेलना है। सिर्फ दो साल में मोहम्मद नवाज, लिस्टन कोलासो, सेवियर गामा और जोनाथन कार्दाजो सीनियर टीम में जगह बना चुके हैं और इस सीजन में कुछ और खिलाड़ी उनकी राह पर चलते हुए दिखेंगे।

गोवा के पास किसी अन्य टीम की तुलना में सबसे अधिक लोकल खिलाड़ी हैं। बीते सीजन में आठ खिलाड़ी लोकल थे। यह किसी अन्य क्लब से अधिक संख्या है। इनमें से चार मंडार राव देसाई, ब्रेंडन फर्नांडिस, शेरिटन फर्नांडिस और लेना रोड्रिग्ज सीनियर टीम में स्थायी जगह बना चुके हैं।

गोवा में जब भी मैच होता है तो इस क्लब के फैन्स का जुनून देखते ही बनता है। फातोर्दा के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम की ओर मैच के दिन जाती हर एक कार एफसी गोवा के रंगों से रंगी रहती है। एफसी गोवा मैदान में तो आग उगलता ही है, मैदान के बाहर भी शानदार काम कर रहा है। इसका फोर्सा गोवा फाउंडेशन पूरे साल 1000 से अधिक बच्चों को ट्रेन करता है और आगे आने वाले कई सालों तक कहता रहेगा।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

Recommended

Spotlight

Follow Us