यूपी में कन्या पूजन के दौरान अग्निकांड, जिंदा जली मासूम, तीन झुलसीं 

Daily Hunt News 07-10-2019 18:03:46

उन्नाव,। शारदीय नवरात्रि के अंतिम दिन सोमवार को कन्या भोज के दौरान एक किराना व्यापारी की दुकान में आग लग गई। इस अग्निकांड में एक कन्या की जिंदा जलकर मौत हो गई, जबकि तीन बच्चियां गंभीर झुलसी गईं। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर झुलसी बच्चियों को निजी अस्पताल में भर्ती कराया है।

माखी थाना क्षेत्र के निस्पंसारी गांव निवासी सुनील कुशवाहा की गांव के बाहर परचून की दुकान है। अन्य सामान के साथ ही वह अवैध रूप से पेट्रोल भी बेचता है। नवरात्रि के अंतिम दिन उसने दुकान में ही कन्या भोज के लिए सात कन्याओं को गांव से बुलाया था। दुकान के अंदर पूजन चल रहा था और कन्याएं बैठी हुई थी। इसी दौरान किसी बच्चे का धक्का लगने से करीब 25 लीटर पेट्रोल से भरा जरीकेन गिर गया जिससे पेट्रोल जमीन पर फैल गया और दुकान में हो रहे हवन की चिंगारी से आग भड़क उठी।

जान बचाने के लिए सभी लोग बाहर की ओर भागे लेकिन दुकान के कांउटर में फंसकर तीन बच्चियां कोमल, रीता व अनीता झुलस गईं जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। सबसे पीछे बैठी लाला लोहार की छह वर्षीय बेटी पूजा अपने बर्तन उठाने के लिए फिर पीछे भागी। इसी दौरान वह आग से घिर गयी। जब तक ग्रामीण आग पर काबू पाते, तब तक पूजा की मौत हो चुकी थी। पुलिस ने जिन्दा जली बच्ची के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर झुलसी तीनों बच्चियों को नजदीक के निजी अस्पताल में भर्ती कराया है।

कन्या भोज के दौरान हुए अग्निकांड पर सीएम ने मांगी रिपोर्ट, दो लाख मुआवजा का ऐलान
उन्नाव में आज महानवमी पर्व पर कन्या भोज के दौरान आग लगने से जिंदा जलकर हुई बच्ची की मौत के मामले का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गंभीरता से संज्ञान लिया है। उन्होंने जिला प्रशासन से घटना की जांच रिपोर्ट 24 घण्टे के भीतर मांगी है। इसके साथ ही पीड़ित परिवार को दो लाख रुपये के आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कन्या भोज के दौरान आग लगने की घटना में बच्ची की मृत्यु पर गहरा दुख व्यक्त किया है। साथ ही जिला प्रशासन को हादसे में झुलसी तीन कन्याओं के समुचित इलाज के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने मृतका के परिवार को दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है। इसके अलावा यहां के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को इस पूरे मामले की जांच रिपोर्ट 24 घण्टे के भीतर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

 

Recommended

Spotlight

Follow Us