VIDEO: अपने हर मैच को आखिरी मैच मानता है टीम इंडिया का ये खिलाडी, लोग कह रहे है नई रन मशीन

Daily Hunt News 20-09-2019 20:02:58

नई दिल्ली। भारतीय टीम ने वेस्टइंडीज के खिलाफ हाल ही में खेली टेस्ट सीरीज 2-0 से अपने नाम की थी। इस सीरीज में 25 साल के बल्लेबाज हनुमा विहारी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 289 रन बनाये थे। इस बीच हनुमा विहारी ने अपने इस प्रदर्शन को लेकर बड़ा बयान दिया है। 

यह खबर भी पढ़े:VIDEO: कश्मीर मुद्दे पर बात शुरू करते ही कुर्सी से गिरा पाक पैनललिस्ट, फिर भारतीय ने उड़ाया जमकर मजाक

दरअसल, विहारी ने पीटीआई से कहा, ‘बेशक मैं अपने प्रदर्शन से खुश हूं, लेकिन मैं स्पष्ट सोच के साथ इस दौरे पर गया था। मैंने मैच दर मैच रणनीति बनाई और हर मैच को अपने आखिरी मैच की तरह खेला। इससे मुझे इस सोच के साथ उतरने में मदद मिली कि मेरे पास खोने के लिए कुछ नहीं है। 

ु

कप्तान विराट कोहली ने हाल ही में कहा था कि विहारी बल्लेबाजी करता है, तो ड्रेसिंग रूम में सुकून का माहौल रहता है। उन्होंने विहारी को वेस्टइंडीज दौरे की खोज भी बताया। इस पर विहारी ने कहा, ‘यदि चेंज रूम में सबको आप पर इतना भरोसा है, तो और क्या चाहिए। यह सबसे बढ़िया तारीफ है और खुद कप्तान ने की है, तो मुझे और क्या चाहिए। 

छह टेस्ट में एक शतक और तीन अर्धशतक समेत 456 रन बना चुके विहारी ने कहा ,‘यह वर्षों की कड़ी मेहनत का नतीजा है, जो मैंने घरेलू क्रिकेट में की है। भारत के लिए खेलने से पहले मैंने 60 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं। उन्होंने कहा ,‘मैंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में दबाव के हालात का सामना किया है, जिससे मैं बड़ी चुनौतियों के लिए तैयार हुआ। आंध्र क्रिकेट संघ और चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद को मैं धन्यवाद देना चाहता हूं। 

यह खबर भी पढ़े:यौन शोषण केस में फंसे चिन्मयानंद को 14 दिनों के लिए भेजा गया जेल

विहारी ने कहा कि उनके छोटे, लेकिन प्रभावी अंतरराष्ट्रीय करियर का कारण चुनौतियों का डटकर सामना करने की उनकी क्षमता है। मेलबर्न में पारी का आगाज करने वाले इस बल्लेबाज ने कहा ,‘ऑस्ट्रेलिया में पारी की शुरुआत करना मेरी इसी मानसिकता की देन था, मैं स्वाभाविक रूप से सलामी बल्लेबाज नहीं हूं और वह बहुत बड़ी चुनौती थी। 

ु

उन्होंने कहा ,‘या तो मैं बैठकर रोता रहता कि मुझसे पारी का आगाज क्यों कराया जा रहा है या चुनौती का सामना करने के लिए खुद को तैयार करता। मैंने दूसरा विकल्प चुना.’ हैदराबाद के रहने वाले विहारी की बल्लेबाजी की शैली उनके शहर के स्टायलिश बल्लेबाजों वीवीएस लक्ष्मण और मोहम्मद अजहरुद्दीन से जुदा है।  उन्होंने कहा ,‘मेरा हमेशा से विश्वास रक्षात्मक खेल पर फोकस करने पर रहा है। रक्षात्मक तकनीक सही होने पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आप किसी भी गेंदबाज पर दबाव बना सकते हैं। आक्रामक खेलने पर गेंदबाजों को मौके मिल जाते हैं। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

Recommended

Spotlight

Follow Us