पांच वर्ष से कम आयु का हर दूसरा बच्चा कुपोषित

Daily Hunt News 10-09-2019 18:52:27

नई दिल्ली। उपभोक्ता उत्पाद क्षेत्र की डायरेक्ट सेलिंग कंपनी एमवे इंडिया ने कहा है कि दिल्ली में पांच वर्ष आयु वर्ग का हर दूसरा बच्चा कुपोषित है लेकिन एक वर्ष पूर्व उसके द्वारा शुरू किये गये जागरूकता अभियान से इसमें तेजी से सुधार हो रहा है।

यह खबर भी पढ़े: यूएनएचआरसी बैठक में कश्मीर पर भारत और पाक रखेंगे अपना पक्ष

कंपनी ने मंगलवार को यहां जारी एक रिपोर्ट में कहा कि देश के कुपोषण की स्थिति जानने के लिए पिछले वर्ष पावर ऑफ 5 प्रोग्राम शुरू किया गया था। इसको ममता हेल्थ इंस्टीट्यूट फॉर मदर एंड चाइल्ड नामक संगठन के सहयोग से लाँच किया गया। शुरूआती चरण में उत्तरी पश्चिमी दिल्ली के किरारी क्षेत्र में इसके तहत 9700 से अधिक बच्चों का सर्वेक्षण किया गया जिसमें पता चला कि हर दूसरा बच्चा कुपोषित है।

उसने कहा कि इसमें शामिल बच्चों में से 17 प्रतिशत कमजोर थे, 31 प्रतिशत का वजन कम था और 46 प्रतिशत अविकसित थे। इनमें से 1700 बच्चों का निरंतर निगरानी के लिए चिन्हित किया गया। इनमें से 73 प्रतिशत बच्चों का वजन कम था जबकि 44 प्रतिशत अविकसित थे।

एमवे ने कहा कि हालांकि इस कार्यक्रम के अंत में जो परिणाम मिले व प्रोत्साहन देने लायक था। निरंतर निगरानी के कारण 1700 में से 79 प्रतिशत बच्चे कुपोषण की श्रेणी से बाहर आ गये जबकि 328 बच्चे इसी श्रेणी में रहे। इसी तरह से कम वजन वाले 1236 बच्चों में से 455 बच्चे की इस श्रेणी रहे जबकि शेष इससे बाहर आ गये। अविकसित श्रेणी के बच्चों की संख्या 750 से कम होकर 484 रह गयी।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

Recommended

Spotlight

Follow Us