कृतज्ञ राष्ट्र ने गोविंद बल्लभ पंत को याद किया, 132वीं जयंती पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की

Daily Hunt News 10-09-2019 18:49:47

नयी दिल्ली। कृतज्ञ राष्ट्र ने प्रख्यात स्वंत्रता सेनानी, भारत रत्न पंड़ित गोविंद बल्लभ पंत के राष्ट्र निर्माण के योगदान को आज याद किया और उन्हें 132वीं जयंती पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अलावा देश के कई राज्यों के राज्यपालों और मुख्यमंत्रियों ने भी पंत की सेवाओं और आजादी के लड़ाई में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित करते हुए उन्हें देश का सच्चा सेवक बताया।

यह खबर भी पढ़ें: ​अनुच्छेद 370 की समाप्ति मोदी सरकार की बड़ी उपलब्धि: जितेन्द्र सिंह

राजधानी दिल्ली के अलावा लखनऊ, देहरादून, पौडी गढ़वाल, रानीखेत समेत अनेक शहरों में भी उनकी 132वीं जयंती मनायी गयी और कई कार्यक्रम आयोजित किये गये।कोविंद ने अपने संदेश में कहा कि भारत रत्न गोविंद बल्लभ पंत ने आजादी की लड़ाई में असहयोग आंदोलन और सविनय अवज्ञा आंदोलन और सत्याग्रह में भाग लिया। वह एक महत्वपूर्ण नेता, समाज सुधारक तथा सांसद भी थे और आज की पीढ़ी के लिये प्रेरणा स्रोत भी हैं।

नायडू ने अपने संदेश में कहा कि पंड़ित पंत एक सच्चे देशभक्त, जननेता तथा वंचित समुदाय के हितों के लिए लड़ने वाले योद्धा थे। उत्तर प्रदेश में भूमि सुधारों और राज्यों के पुनर्गठन के मामले में अपनी प्रेरक क्षमता के लिये वह हमेशा याद किये जायेंगे। मोदी ने पंडित गोविंद बल्लभ पंत को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि वह एक प्रख्यात स्वंत्रता सेनानी, एक महत्वूपर्ण अधिवक्ता और अाजादी के बाद भारत के निर्माताओं में से एक थे।

मुख्य कार्यक्रम दिल्ली में संसद भवन के सामने गोल चक्कर पर पंड़ित पंत की प्रतिमा पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, संस्कृ़ति मंत्री प्रह्लाद पटेल और संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी, जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, पूर्व केन्द्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी के अलावा रीता बहुगुणा जोशी, सुशील शास्त्री, अजीत सिंह तथा इला पंत ने भी माल्यार्पण किया और उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनकी प्रतिमा पर माल्याणर्पण करते हुए कहा कि पंड़ित पंत भारत के निर्माताओं में से एक थे और अपनी प्रशासनिक क्षमता और प्रगतिशील दृष्टिकोण के लिये जाने जाते थे। उनके आदर्श देश के लिये प्रेरणा के स्रोत रहे हैं।

पंत नगर विश्वविद्यालय देहरादून में उत्तराखंड के राज्यपाल बीबी रानी मौर्य ने कहा कि पंडित पंत हिमालय पुत्र थे और उन्होंने आजादी की लड़ाई में महत्वूपर्ण भूमिका निभायी और वह आधुनिक भारत के निर्माताओं मे से एक थे। नैनीताल ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि पंड़ित पंत उत्तर प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री और देश के चौथे गृह मंत्री थे। उन्होंने आधुनिक भारत के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

Recommended

Spotlight

Follow Us