जयपुर-सवाईमाधोपुर रेलखण्ड का दोहरीकरण कार्य स्वीकृत

Daily Hunt News 10-07-2019 22:47:19

जयपुर। केंद्रीय बजट में उत्तर पश्चिम रेलवे को विभिन्न कार्यों के लिए बजट का आवंटन किया गया है। बजट में यात्री सुविधाओं तथा रेल संरक्षा पर विशेष ध्यान केन्द्रित किया गया हैं। यात्री सुविधाओं के मद पर उत्तर पश्चिम रेलवे के बजट को बढ़ाकर लगभग दुगुना किया गया है। इस मद में 98.51 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 186.17 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है। संरक्षा के अहम मद ट्रेक नवीनीकरण के लिए भी बजट बढ़ाया गया है। इसमें गत वर्ष के 540 करोड़ के बजट आवंटन को बढ़ाकर 641 करोड़ किया गया है, जो 19 प्रतिशत अधिक है। रेलवे समपारों पर भी संरक्षा को ध्यान में रखते हुए रोड ओवर ब्रिज तथा रोड अण्डर ब्रिज के लिए 616 करोड़ रुपए का बजट में प्रावधान किया गया है। इसके अतिरिक्त निर्माण कार्य में नई लाइनें, आमान परिवर्तन के कार्य के लिए भी उपयुक्त बजट का प्रावधान किया गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे के केपिटल आउट-ले वर्ष 2018-19 के 5509.70 करोड़ की तुलना में इस बजट में 5797.61 करोड़ (पिछले वर्ष की तुलना में 5.23 प्रतिशत की वृद्धि) आवंटित किया गया है।

उत्तर पश्चिम रेलवे में जयपुर-सवाईमाधोपुर दोहरीकरण (131.27 कि.मी.) कार्य के लिए 946.13 करोड़, उत्तर पश्चिम रेलवे पर लूप लाइनें, खातीपुरा रेलवे स्टेशन के निकट भटेसरी में कोच केचर काम्प्लेक्स, स्टेबल लाइन, स्टेशन का अपग्रेडेषन, गुड्स प्लेटफॉर्म का विस्तार व सिगनल कार्य का निर्माण के लिए 789.79 करोड़, 55 समपारों पर इंटरलॉकिंग कार्य के लिए 40.83 करोड़, ट्रेक नवीनीकरण तथा ट्रेक सम्बंधी संरक्षा कार्य के लिए 370.78 करोड़, पुराने सिगनल व दूरसंचार संबंधी उपकरणों को बदलने के कार्य के लिए 94.38 करोड़, आरओबी/आरयूबी के निर्माण कार्य के लिए     20 करोड़ का प्रावधान किया गया है। वर्तमान में जारी मुख्य कार्यों के लिए भी बजट आवंटन किया गया है। इसमें दौसा-गंगापुर सिटी (92.67 किमी) नई लाइन के लिए 100 करोड़, थियात हमीरा-सानू (58.5 किमी) के लिए 54 करोड़, 
दोहरीकरण में फुलेरा-डेगाना (108.75 किमी) के लिए 150 करोड़ तथा डेगाना-राईका बाग (145 किमी) के लिए 75 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

शर्मसार : कंडक्टर ने चलती बस से महिला को पति के शव के साथ..., कार्रवाई का दिया आश्वासन
यह भी पढ़ें

इसी तरह उत्तर पश्चिम रेलवे पर स्टेशनों पर अपग्रेडेशन कार्य के लिए 49 करोड़, फुट ओवर ब्रिज/हाई लेवल प्लेटफार्म के लिए 61 करोड़, वॉशेबल एप्रेन के निर्माण के लिए 50 लाख, 42 लिफ्ट के प्रावधान के लिए 12.10 करोड़, 20 एस्केलेटर के लिए 19.70 करोड़, जोधपुर स्टेशन पर क्विक वाटरिंग प्रणाली की व्यवस्था के लिए 1 करोड़, जयपुर यार्ड के रि-मॉडलिंग के लिए 10 करोड़, मेड़ता रोड-बीकानेर रेलखण्ड पर 11 स्टेशनों पर इंटरलॉकिंग कार्य के लिए 2.10 करोड़,     लालगढ़-सूरतगढ़ रेलखण्ड में इंटरलॉकिंग व अन्य कार्य के लिए 1.02 करोड़, खातीपुरा-जयपुर के सैटेलाइट स्टेशन के रूप में टर्मिनल सुविधा के लिए 10 करोड़ तथा गैटोर जगतपुरा स्टेशन पर हाई लेवल प्लेटफॉर्म व लूप लाइन के लिए 1.75 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

इसी तरह बजट में पार्टनरशिप के तहत सौर ऊर्जा वाले कार्यों के लिए 50 करोड़, बांदीकुई रेलवे सुरक्षा बल प्रशिक्षण केन्द्र की क्षमता में विस्तार के लिए 2.95 करोड़, उदयपुर में ब्रॉडगेज दुर्घटना सहायता ट्रेन के लिए 1.50 करोड़, जोधपुर कारखाने में 75 से 100 डिब्बों तक प्रतिमाह आवधिक ओवरहॉलिंग क्षमता के लिए आधुनिकीकरण के लिए 4.89 करोड़, मदार स्टेशन पर नियमित ओवरहालिंग सुविधा  के लिए 14.50 करोड़, अजमेर से मदार के लिए सवारी डिब्बों के अनुरक्षण सुविधाओं की शिफ्टिंग के लिए 2 करोड़ तथा बीकानेर कारखाने में बीसीएन व बीएलसी माल डिब्बों के लिए आवधिक ओवरहॉलिंग सुविधा के लिए 12.90 करोड़ एवं भगत की कोठी स्टेशन पर नई पिट लाइन के लिए 3.73 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 4300/- गज, अजमेर रोड (NH-8) जयपुर में 7230012256

Recommended

Spotlight

Follow Us