अगर आप दांतों की झनझनाहट से हैं परेशान तो अपनाये ये देशी तरीके

Daily Hunt News 10-07-2019 15:03:10

डेस्क। आजकल केमिकलयुक्त टूथपेस्ट और खान-पान की गलत आदतों के कारण दांतों की समस्या आम हो गई है। आपने कभी महसूस किया होगा की बहुत बार कुछ भी खट्टा, गरम, ठंडा, या मीठा खाने से दांतों में झनझनाहट और तेज दर्द होने लगता है। इसे दांतों की सेंसिटिविटी भी कहा जाता है। मुंह से संबंधित इन सभी समस्याओं को दूर करने के लिए आप आयुर्वेद का सहारा ले सकते हैं। ऐसे में झनझनाहट को कम करने के लिए आप कुछ घरेलू उपायों का इस्तेमाल कर सकते हैं।  आइये जानते हैं इन घरेलु तरीकों के बारे में। 

माइग्रेन के दर्द से छुटकारा पाने के लिए अपनाये ये देशी तरीके
यह भी पढ़ें

कच्चा प्याज: कच्चा प्याज दांतों की झनझनाहट को कम करने में मदद करता है। प्याज के एक छोटे टुकड़े को दांतों में दबाएं और 5 मिनट बाद नमक के पानी से कुल्ला कर लें जिससे दांतों की झनझनाहट कम करने में मदद मिलती है।

dddd

तुलसी की पत्तियां : अगर आप मुंह को समस्याओं से दूर रखना चाहते हैं तो तुलसी की पत्तियों को चूर्ण बनाकर अपने रेगुलर टूथपेस्ट में मिलाएं और रोज ब्रश करें।

लहसुन: लहसुन में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। यह दांतों की संवेदनशीलता और संक्रमण को कम करने में मदद करता है। इसके लिए 2-3 लहसुन की कलियों को छिलकर उसमें थोड़ा सा पानी डालकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को दांतों पर लगाएं और थोड़ी देर बाद नमक के पानी से कुल्ला कर लें।  इसे दिन में दो बार कर सकते हैं। 

नमक का पानी: नमक का पानी दांतों की सेंसिटिविटी को तेजी से खत्म करता है। यह मुंह के pH को बैलेंस करता है. नमक में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो मुंह के बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करते हैं. इसलिए नमक को गर्म पानी में डालकर उससे अच्छी तरह से कुल्ला कर लें।  इसे दिन में दो बार करने से दांतों की झनझनाहट कम होती है।

dddd

 सरसों का तेल:  सरसों का तेल दांतों में झुनझुनी दूर करने का बेहतर और आसान उपाय है। एक चम्मच सरसों के तेल में एक छोटा चम्मच सेंधा नमक मिलाएं। इससे मसूड़ों की हल्की मसाज करें। 5 मिनट के बाद गुनगुने पानी से अच्छी तरह कुल्ला कर लें। इससे दांतों में झुनझुनी लगना बंद हो जाएगा।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 4300/- गज, अजमेर रोड (NH-8) जयपुर में 7230012256 

Recommended

Spotlight

Follow Us